अलीगढ़, जागरण संवाददाता: अलीगढ़ में देहलीगेट थाना क्षेत्र के सराय मियां इलाके में मंगलवार शाम को एक महिला ने दहेज की खातिर अपने पति पर तेजाब फेंकने का आरोप लगाया है। इससे महिला के पैर झुलस गए। उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां से जेएन मेडिकल कालेज में रेफर कर दिया। हालांकि पुलिस का कहना है कि तेजाब के जलने की बात गलत है। कोई ज्वलनशील पदार्थ डाला गया है। इसके लिए मेडिकल कराया जा रहा है। साथ ही घटनास्थल पर लोगों से पूछताछ की जा रही है।

सासनीगेट क्षेत्र के कांजीपाड़ा निवासी शान मोहम्मद उर्फ सानू ने अपनी बहन उस्मा की शादी पांच शाल पहले देहलीगेट क्षेत्र के सराय मियां निवासी जुनैद के साथ की थी। आरोप है कि दान दहेज से ससुरालीजन संतुष्ट नहीं थे। अतिरिक्त दहेज की मांग करते थे। इसके चलते दो साल से उस्मा अपने मायके में रह रही है।

मंगलवार शाम को उस्मा अपने बच्ची को दवा लेकर सराय मियां स्थित एक रिश्तेदार के घर जा रही थी। आरोप है कि रास्ते में सराय मियां में ही पति जुनैद मिल गया और उसने महिला पर तेजाब फेंक दिया। साथ में ससुर व अन्य लोग भी थे। महिला का कहना है कि ससुरालीजन दहेज मांगते हैं।

पुलिस ने महिला को डाक्टरी परीक्षण के लिए जिला अस्पताल में भिजवाया, जहां से उसे मेडिकल रेफर कर दिया गया। सीओ प्रथम अशोक कुमार सिंह ने बताया कि महिला ने पहले से ही अपने पति समेत अन्य ससुरालियों पर दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज करा रखा है। इसमें चार्जशीट भी दाखिल हो चुकी है। मामला अदालत में विचाराधीन है।

महिला का आरोप है कि पति ने उस पर तेजाब फेंक दिया। अन्य लोग भी साथ में थे। आरोपों के आधार पर जांच की जा रही है। तहरीर व मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Aqib Khan