अलीगढ़, जागरण संवाददाता। उत्‍तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के सासनीगेट थाना क्षेत्र में अवैध संबंधों में बाधक बनने पर एक युवक की उसी की पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया। गांधीपार्क थाना पुलिस को उसी दिन शव ट्रैक पर मिला। लेकिन, प्रथम दृष्टया घटना को रेल हादसा माना गया। शनिवार को जब युवक के स्वजन उसे तलाशते हुए थाना सासनीगेट पहुंचे तो पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया। उसके शक के आधार पर जांच की तो पूरा भेद खुल गया। पुलिस ने महिला, उसके प्रेमी समेत चार लोगों को हिरासत में ले लिया है।

चेतन ने किया था प्रेम विवाह

थाना सासनीगेट क्षेत्र के कबीर नगर पला निवासी 24 वर्षीय चेतन ने करीब तीन साल पहले मोहल्ले की ही नेहा के साथ प्रेम विवाह किया था। इन पर 10 माह का बेटा है। पुलिस के मुताबिक, चेतन क्षेत्र में ही रहने वाले दीपक की फैक्ट्री में भट्ठी पर काम करता था। उसकी पत्नी नेहा भी यहीं काम करती थी। ऐसे में नेहा के दीपक के साथ अवैध संबंध स्थापित हो गए। चेतन को इसकी जानकारी हुई तो उसने विरोध भी किया था। वहीं 20 मई को तड़के चेतन काम के लिए निकला, मगर घर नहीं लौटा।

दो दिन तक जब कहीं कोई पता नहीं चला तो चेतन के भाई कालू ने 21 मई को पुलिस को तहरीर दी। इसमें बताया कि चेतन की पत्नी से फैक्ट्री मालिक दीपक फोन पर बातें करता था। चेतन की इसे लेकर कहासुनी भी हुई। उसने पत्नी को काफी समझाया, मगर वह जिद पर अडिग रही और चेतन को छोड़ने तक की बात कह दी। वहीं 19 मई को रात साढ़े 10 बजे दीपक, उसके यहां काम करने वाले कारीगर रवि, पिंटू दारू पीकर घर में घुस आए। कालू के भाई गौरव को धमकी दी कि तेरे भाई व तुझ पर काल मंडरा रहा है। गालीगलौज की और हत्या की धमकी देकर चले गए। अगली सुबह तड़के ढाई बजे चेतन काम करने गया, तभी से लापता है।

बोरे में भरकर ले गए थे चेतन का शव

कालू ने हत्या की आशंका जताई। एसपी सिटी कुलदीप सिंह गुनावत ने बताया कि सासनीगेट थाना प्रभारी पंकज कुमार मिश्रा की टीम ने दीपक को शक के आधार पर हिरासत में लिया। सख्ती से पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल लिया। उसने बताया कि नेहा से अवैध संबंध थे। इसके चलते 20 मई को सुबह जैसे ही चेतन काम पर आया, उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को बोरे में रखकर बाइक से भदेसी रेलवे लाइन पर ले गए। यहां शव को बोरे से निकालकर ट्रैक पर फेंक दिया।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena