अलीगढ़, जेएनएन। भारत विकास परिषद सुगंधा शाखा सेवा के साथ ही सांस्कृतिक क्षेत्र में भी आगे रहती है। संस्था का मुख्य उद्देश्य सेवा और अपनी संस्कृति का अधिक से अधिक प्रचार प्रचार करना है। सावन की शुरुआत में शाखा की ओर से शिव चालीसा और शिव भजन का कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम के अंत में महामृत्युंजय मंत्र गूंजे। कोरोना के चलते वर्चुअल कार्यक्रम आयोजित किया गया था। सावन के प्रत्येक सोमवार को कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया।

सावन में शिव आराधाना का कार्यक्रम

ब्रज उत्तर प्रांत की महिला संयोजिका रश्मि सिंह ने सावन मास में शिव आराधना के कार्यक्रम की योजना बनाई। इसके अंतर्गत भारत विकास परिषद सुगंधा शाखा अलीगढ़ की टीम ने बेहतरीन प्रस्तुति दी। सावन के प्रथम सोमवार को भक्तिमय माहौल हो गया। महिला संयोजिका रोली वाष्र्णेय ने गणेश वंदना से शुरू कार्यक्रम की शुरुआत की। शिव चालीसा का पाठ किया। संचालन अध्यक्ष नीलम शर्मा ने किया। भोलेनाथ हैं औघड़दानी, शिव शंकर हैं सबसे निराले, देखो हैं वो भोले-भाले आदि भजन सुनाया। सचिव मनीषा गुप्ता ने ब्रज उत्तर प्रांत से जुड़े सभी पदाधिकारियों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि आज हमें अपने तीज-त्योहारों को और उत्साह के साथ मनाना चाहिए, जिससे नई पीढ़ी सीख सके, क्योंकि आधुनिकता की दौड़ में नई पीढ़ी इससे अलग होती जा रही है। सभी सखी-सहेलियों ने मिलकर बेहतरीन प्रस्तुति दी।

दुनिया में सबसे अनुपम है हमारी सभ्‍यता

महिला संयोजिका रश्मि सिंह ने कहा कि हमारी संस्कृति सारी दुनिया में अनुपम हैं, दुनिया के लोग आश्चर्य में रहते हैं कि कैसे यहां तीज-त्योहार बड़े आनंद के साथ मनाए जाते हैं। लोग भक्तिरस में डूबे रहते हैं। सावन से त्योहारों की बारिश शुरू हो जाती है, फिर मनभावन लगने लगता है। संस्कृति के मामले में दुनिया में सबसे समृद्ध हम हैं। कोषाध्यक्ष सुनयना सिंह, नीता ,वारिजा, मंगलेश यादव, नगीना,शुभ्रा, रीता, लता गुप्ता, सुशीला सिंह,सुनीता, भक्तिसाधना,नीनजैन, पूजा सोमानी, हेमलीन आदि थीं।

Edited By: Anil Kushwaha