जासं, अलीगढ़ : बारिश में जलभराव ने मुश्किलें बढ़ा दी हैं। मंगलवार को रातभर हुई बारिश से स्वर्ण जयंती नगर में दुकानों में पानी भर गया। ओरा पर्ल अपार्टमेंट के बेसमेंट में बनी दर्जनभर दुकानों में दो से तीन फुट पानी था। बुधवार को भी झमाझम बारिश हुई। दुकानदार यहां पहुंचे तो होश उड़ गए। लाखों का सामान पानी में तैर रहा था। गुस्साए लोगों ने रास्ता जाम कर नगर निगम के खिलाफ प्रदर्शन किया। निगम अधिकारियों के खिलाफ खूब नारेबाजी हुई। पुलिस के समझाने पर भी दुकानदार नहीं माने। मौके पर पहुंचे कोल विधायक अनिल पारासर ने पंप सेट और दमकल की मदद से पानी निकलवाया।

स्वर्ण जयंती नगर में पहले कभी दुकानों में पानी नहीं भरता था, लेकिन इस बार दुकानें भी जलमग्न हो गईं। ओरा पर्ल अपार्टमेंट के बेसमेंट में रेडिमेड कपड़े, कंप्यूटर हार्डवेयर, खाने-पीने की दर्जनभर दुकानें हैं। दुकानदारों ने बताया कि स्वर्ण जयंती नगर में नालों की ठीक तरह से सफाई नहीं की गई। बेसमेंट के बाहर नाला गंदगी से अटा पड़ा है। बारिश में यह ओवरफ्लो हो गया। निकासी न होने से बेसमेंट में पानी भरने लगा। नगर निगम की इसमें घोर लापरवाही है। नालों की सफाई हो जाती तो पानी नहीं भरता। यहां पहले कभी दुकानों में पानी नहीं भरा था। इसी बार ऐसा हुआ है। विरोध कर रहे दुकानदारों की पुलिस कर्मियों से नोकझोंक भी हुई। जीप को वापस कर दिया। कोल विधायक ने निगम अधिकारियों से वार्ता कर पंपसेट मंगवाया। दमकल कर्मियों को भी बुलाया गया। तब जाकर दुकानों से पानी निकालने की कवायद शुरू हुई। ईस्ट व्यू अपार्टमेंट के बेसमेंट में भी पानी भर गया है। उधर, रामघाट रोड पर पानी नहीं निकल सका। मीनाक्षी पुल से उतरते ही सड़क तालाब बनी हुई है। मैरिस रोड पर मिस गिल कंपाउंड में घरों में पानी भर गया। जिला मंत्री ठा. सुरेश सिंह के घर में भी पानी घुस गया। उन्होंने बताया कि नगर आयुक्त और सांसद के मोबाइल नंबर बंद थे। उधर, भाजपा नेता राकेश सिंह ने बताया कि जीटी रोड स्थित रेंज हिल्स कालोनी में पानी में करंट उतरने से गाय की मौत हो गई। गुरुद्वारा रोड, विद्यानगर, शाहजमाल, महेंद्र नगर आदि क्षेत्र भी जलभराव से प्रभावित हैं।

एडीए के क्वार्टरों में कैद हुए लोग

शाहजमाल स्थित एडीए के क्वार्टरों में दरार पड़ रही हैं। ईदगाह के आसपास दो से तीन फुट पानी भरा हुआ है। पास ही एडीए के क्वार्टर हैं। बाहर पानी जमा होने से लोग निकल नहीं पा रहे। यहीं रहने वाले शाहजमाल कब्रिस्तान समिति के सचिव मोइनुद्दीन बताते हैं कि खैर रोड, जंगलगढ़ी नाले का पानी इस ओर छोड़ दिया गया है। जंगलगढ़ी में नाला निर्माण हो रहा था। पुलिया का हिस्सा छोड़ दिया गया, जिससे ये हालात हुए हैं।

छह महीने से नगर निगम अधिकारियों को सचेत कर रहे हैं। क्वार्सी चौराहे से एटा चुंगी तक आरसीसी नाला निर्माण की मांग की थी। नगर निगम ने गंभीरता नहीं दिखाई। अब बारिश में कलई खुल रही है। मेयर अपने आवास से ही दिशा-निर्देश दे रहे हैं। हालात देखने नहीं निकल रहे।

अनिल पाराशर, कोल विधायक।

Edited By: Jagran