अलीगढ़ [जेएनएन]: भाजयुमो नेता विनय वाष्र्णेय के खिलाफ हुई पुलिस-प्रशासन की कार्रवाई से लोगों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। अखिल भारतवर्षीय श्री वैश्य बारहसैनी महासभा ने तो खुली चेतावनी दे दी है कि यदि विनय के साथ न्याय नहीं हुआ तो उग्र आंदोलन होगा।

वापस लिया जाए मुकदमा

श्री वाष्र्णेय मंदिर में मीडिया से बातचीत में महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एलडी वाष्र्णेय ने कहा कि प्रशासन ने शहर के हालात को नियंत्रित कर सराहनीय काम किया है, मगर विनय के खिलाफ गलत तरीके से मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि विनय वाष्र्णेय समेत समाज के जितने भी युवाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है, उसे वापस लिया जाए। महासभा के प्रचार मंत्री अनुज वाष्र्णेय अन्नू बीड़ी ने कहा कि विनय संवेदनशील इलाके में रहते हैं, पूरा समाज उनपर भरोसा करता है। वह हर समय लोगों की मदद के लिए तैयार हैं, ऐसे व्यक्ति को आरोपित बनाया जाना, दुर्भाग्यपूर्ण है।

प्रशासन नहीं जानता हकीकत

युवा मंडल अध्यक्ष विष्णु भैया ने कहा कि पुराने शहर में कितनी मुश्किल में लोग रहते हैं, यह पुलिस-प्रशासन को शायद नहीं पता। इस मौके पर संगठन मंत्री डॉ. चंद्रशेखर ऋषि, संयुक्त महामंत्री नितिन घुट्टी आदि मौजूद थे।

24 घंटे का दिया अल्टीमेटम

हिंदुत्ववादी नेता धर्मा भैया ने विनय वाष्र्णेय के समर्थन में खेरेश्वरधाम मंदिर में बैठक की। धर्मा भैया ने कहा कि भाजयुमो नेता विनय पर लगाया गया मुकदमा 24 घंटे के भीतर वापस नहीं लिया जाता है, तो पूरे जिले में राष्ट्रवादी युवा सड़कों पर उतरेंगे। विनय को फर्जी तरीके से फंसाया जा रहा है, जो कतई बर्दास्त नहीं किया जाएगा। दीपक बाबू, रूपेंद्र प्रताप सिंह, आशू पंडित, देवेंद्र, सुनील आदि थे। 

ये है मामला

23 फरवरी को सीएए के विरोध में ऊपरकोट पर बवाल हो गया था। इसने थोड़ी ही देर में बड़ा रूप ले लिया। बाबरी मंडी तक यह बवाल पहुंच गया। इसी बीच मोहम्मद तारिक के सीने में गोली लग गई थी। आरोप है कि बाबरी मंडी निवासी भाजयुमो नेता विनय वाष्र्णेय ने उनपर जानलेवा हमला किया था। पीडि़त ने विनय के खिलाफ जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज कराया है।

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस