संसू, अलीगढ़ : क्षेत्र के मध्य गंग नहर के सोमना हेड पुल पर सोमवार को नहाने के दौरान डूबे युवक का शव 24 घंटे बाद मिल सका। बुलंदशहर निवासी युवक अपनी ससुराल गांव खेमपुर में घूमने आया था। मंगलवार को पुलिस स्तर से तलाश में लापरवाही का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने सोमना-खैर रोड पर जाम लगा दिया। काफी देर तक हंगामा चलता रहा। इस दौरान जाम खुलवाने का प्रयास कर रहे पुलिस कर्मियों से अभद्रता करते हुए ग्रामीणों ने धक्का-मुक्की तक कर डाली। हालांकि किसी तरह पुलिस ने उन्हें समझा-बुझाकर शांत कराया।

बुलंदशहर कोतवाली क्षेत्र के कुतुबपुर निवासी 33 वर्षीय राजेंद्र सिंह पुत्र करन सिंह की खेमपुर गांव में हरी सिंह के यहां ससुराल है। सोमवार को वह ससुराल घूमने आए थे। शाम करीब साढ़े चार बजे राजेंद्र गांव से करीब एक किलोमीटर दूर सोमना स्थित मध्य गंग नहर हेड पुल पर नहाने पहुंच गए। बारिश के चलते नहर में इन दिनों पानी काफी अधिक है। नहाने के दौरान किसी तरह पैर फिसल गया और वह पानी में डूब गए। वहीं नहा रहे युवकों ने बचाने का प्रयास किया, लेकिन पानी का तेज बहाव होने के कारण सफल नहीं हो सके। ग्रामीणों के अलावा फायर ब्रिगेड की टीम भी मौके पर आ गई। देर रात तक रेस्क्यू आपरेशन चलाया गया, लेकिन सफलता नहीं मिल सकी।

तलाश में देरी पर भड़का आक्रोश

नहर में डूबे राजेंद्र का पता न चलने पर बड़ी संख्या में ग्रामीण खुद ही तलाश में जुटे रहे। सुबह से लेकर दोपहर तक इलाका पुलिस के तलाशने में कोई सहयोग न करने पर ग्रामीणों का आक्रोश भड़क उठा। उन्होंने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए सोमना-खैर रोड पर जाम लगा दिया। इस दौरान मौके पर पहुंचे इंस्पेक्टर सुबोध कुमार उपाध्याय, एसएसआइ बिजेंद्र शर्मा आदि पुलिस कर्मियों ने जाम खुलवाने का प्रयास किया तो गुस्साए ग्रामीणों ने उनके साथ अभद्रता करते हुए धक्का-मुक्की तक कर डाली। किसी तरह उन्होंने अपना बचाव करते हुए ग्रामीणों को समझा-बुझाकर शांत कराया। वहीं, इंस्पेक्टर गभाना सुबोध कुमार उपाध्याय का कहना था कि ग्रामीणों को उन्होंने समझाया तो वे मान गए। उन्होंने किसी प्रकार की अभद्रता व धक्का-मुक्की होने से साफ इन्कार किया है।

गड्ढे में मिला शव

ग्रामीणों को तलाश के दौरान नहर में हेड पुल से करीब 500 मीटर दूर भीमपुर मोड़ के पास नहर में एक गड्ढे में राजेंद्र का शव मिला। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। हादसे के बाद से पत्नी ममता व स्वजन बेहाल हैं। राजेंद्र दो बच्चों के पिता थे।

Edited By: Jagran