जासं, अलीगढ़ : महर्षि वाल्मीकि के प्रकटोत्सव पर बुधवार की शाम वाल्मीकि शोभायात्रा हर्षोल्लास के साथ निकाली गई। आकर्षक झांकियों के साथ निकली शोभायात्रा का जगह-जगह पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। जमकर जयकारे लगाए गए। बैंड-बाजों की धुनों पर अनुयायी झूम रहे थे। विभिन्न मार्गों से गुजरी शोभायात्रा का अचल ताल स्थित महर्षि वाल्मीकि मंदिर पर समापन हुआ।

महर्षि वाल्मीकि शोभायात्रा कमेटी के तत्वावधान में शीशिया पाड़ा में भव्य आयोजन हुआ। कमेटी के संस्थापक श्योराज जीवन, प्रदेश अध्यक्ष राजेश राज जीवन, भगवान दास, हरज्ञान स्वरूप विवेकी, प्रकाश देव, अमर ज्ञाननाथ, सतीश चंद्र, बाबूलाल सेवक, अरुण खरे व वाल्मीकि समाज के अन्य प्रबुद्ध बुजुर्गों द्वारा फीता काटकर शोभायात्रा को रवाना किया गया। इससे पूर्व शीशियापाड़ा में नागरिक अभिनंदन व हवन आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता घनश्याम सिंह चौहान ने की। प्रदेश अध्यक्ष ने समाज सेविका अलका बंसल, राजीव भारती, अपर नगर आयुक्त अरुण कुमार गुप्त, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. ओपी गौतम को पगड़ी पहनाकर व शाल ओढ़ाकर स्वागत किया। मुख्य अतिथि महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष प्रतिमा सिंह ने कहा कि महर्षि वाल्मीकि ने संसार को मानवता का संदेश दिया। शीशिया पाड़ा से पांच बैंड और छह झांकियों के साथ निकली शोभायात्रा में शामिल लोग महर्षि वाल्मीकि के जयकारे लगा रहे थे। पुलिस ने सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की हुई थी। जिस मार्ग से शोभायात्रा निकली, वहां ट्रैफिक को पहले ही रोक दिया गया। शीशिया पाड़ा से शुरू हुई शोभायात्रा मीरीमल की प्याऊ, पत्थर बजार, बारहद्वारी, सराय हकीम, रेलवे रोड, कबर कुत्ता, पुराना बस अड्डा, पड़ाव दुबे से होती हुई अचल ताल स्थित महर्षि वाल्मीकि मंदिर पर पहुंची, यहां शोभायात्रा का समापन हुआ। शोभायात्रा में एनएसयूआइ के जिलाध्यक्ष आकाश मसीह, मेलाध्यक्ष महेंद्र राठौर, कार्यवाहक अध्यक्ष सुनील चौहान, रामगोपाल रैना, प्रमोद शेखर, संदीप चौधरी, राजकुमार पंछी, राजेंद्र सिंह, राजेश राजा, शिशुपाल वाल्मीकि, विकास चेतन, प्रदीप मदन लाल, मोहित प्रताप, नितिन विवेकी आदि शामिल रहे।

Edited By: Jagran