अलीगढ़, जागरण संवाददाता। बुधवार को महर्षि वाल्मीकि की जयंती को खास बनाने के लिए प्रशासन जुटा हुआ है। पंचायती राज विभाग की ओर से जिले भर में विशेष साफ-सफाई अभियान चलाया जा रहा है। भगवान राम और हनुमान मंदिरों के साथ ही पौराणिक स्थलों पर रामचरित मानस का पाठ कराने की तैयारी हो रही है। आठ, 12 और 24 घंटे तक अनवरत यह पाठ चलेंगे। डीएम की ओर से नोडल अफसर तैनात किए जाए रहे हैं। गांव देहात के साथ ही नगरीय निकायों में भी कार्यक्रम में होंगे। डीपीआरओ धनंजय जायसवाल ने बताया कि सोमवार से जिले की मलिन बस्तियों में साफ-सफाई अभियान की शुरुआत हो गई। मंगलवार को भी सफाई अभियान चलेगा।

यह है कार्यक्रम को भव्‍य बनाने की रणनीति

सीडीओ अंकित खंडेलवाल ने बताया कि जिले में तीन चरणों में रामचरित मानस पाठ और अन्य आयोजन किए जाएंगे। इसके लिए जिले में श्रीराम और हनुमान मंदिर समेत अन्य प्रमुख स्थलों का चिह्नाकन कर लिया गया है। जयंती को खास बनाने के लिए जिले में चयनित मंदिरों में होने वाले आयोजन के लिए एक-एक नोडल अधिकारी भी नियुक्त किए जा रहे हैं। रामचरित मानस पाठ का आयोजन नगरीय निकाय (नगर निगम, नगर पंचायत व नगर पालिका) के साथ ही तहसील और विकास खंडों में कार्यक्रम होंगे। हर जगह आयोजन के लिए समितियां गठित की जा रही हैं। शासन से भी इसके लिए आदेश मिल गए हैं। मंगलवार की शाम तक सभी आयोजन स्थल पर रामचरित मानस की उपलब्धता के साथ ही सभी तैयारियों की फोटोग्राफी कर संस्कृति विभाग को भेजनी हैं। इसके लिए भी ड्यूटी लगा दी गई है।

यह है रणनीति

एक स्थान से अधिकतम 10 फोटो अपलोड होंगे। कार्यक्रम में किसी तरह की कमी न रहे। रामचरित मानस के पाठ का वीडियो भी संस्कृति विभाग को भेजा जाएगा। जिले में इसके लिए साफ-सफाई की जा रही है। पंचायती राज विभाग के अफसर जुटे हुएहैं। निकायों में वहां के अफसरों को जिम्मेदारी दी गई है। मंगलवार दोपहर तक सभी तैयारियां पूरी कर ली जाएंगी।