अलीगढ़ [जेएनएन]: देहलीगेट क्षेत्र में आठ साल की बच्ची के साथ उसके चाचा ने मारपीट की। बच्ची की मां ने दुष्कर्म का भी आरोप लगाया है। घटना गुरुवार की है। हालांकि डॉक्टरी परीक्षण में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है। पुलिस के मुताबिक, मकान के बंटवारे को लेकर विवाद हुआ था। मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। इसके अलावा  अलीगढ़ में एडीजे फास्ट ट्रैक प्रथम त्रिभुवन नाथ पासवान की कोर्ट ने किशोरी से दुष्कर्म के आरोपित को आठ साल कैद की सजा सुनाई है। साथ ही 27 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। 

चाचा ने किया दुष्कर्म

देहलीगेट क्षेत्र के एक मोहल्ले में रहने वाली महिला ने पुलिस को दी तहरीर में कहा है कि गुरुवार दोपहर वह बाहर थीं। उनकी आठ साल की बच्ची घर पर अकेली थी। इसी दौरान देवर ने उनकी बच्ची के साथ मारपीट की और दुष्कर्म किया। जब वह लौटी तो बच्ची बेहोशी की हालत में मिली। इधर, दुष्कर्म की सूचना पुलिस फौरन हरकत में आई। लैपर्ड ने मैके पर पहुंचकर पूछताछ की तो पता चला कि दोनों पक्षों में मकान के बंटवारे को लेकर विवाद हुआ था। पुलिस ने बच्ची का मेडिकल परीक्षण कराया।

किशोरी से दुष्कर्म में आठ साल की सजा

अलीगढ़ में एडीजे फास्ट ट्रैक प्रथम त्रिभुवन नाथ पासवान की कोर्ट ने किशोरी से दुष्कर्म के आरोपित को आठ साल कैद की सजा सुनाई है। साथ ही 27 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। एडीजीसी शैलेंद्र अग्रवाल के मुताबिक, घटना गौंडा थाना क्षेत्र के एक गांव की है। 30 जुलाई 2010 को सुबह 11 बजे 15 साल की किशोरी घर के पास खेत में काम कर रही थी। इसी दौरान गांव का युवक राकेश अपहरण कर ले गया। इसके बाद किशोरी से दुष्कर्म किया। गुरुवार को कोर्ट ने गवाहों व सबूतों के आधार पर आरोपित को दोषी करार दिया था, शुक्रवार को सजा सुनाई।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस