अलीगढ़, जागरण संवाददाता। एतिहासिक नुमाइश में इस बार दो फूड कोर्ट बनेंगे। नुमाइश प्रबंधन ने इसको लेकर तैयारी कर ली है। एक फूड कोर्ट कोहिनूर मंच के बराबर में खोला जाएगा। वहीं, दूसरा फूड कोर्ट कृष्णांजलि के सामने लगेगा। प्रशासन ने इसको लेकर तैयारी कर ली है। जमीन का चिह्नाकन हो चुका है। संपन्न परिवारों से जुड़े दर्शक यहां पर लजीज व्यंजनों का लाभ उठा सकेंगे। प्रशासन की इससे आय तो बढ़ेगी ही, साथ ही बेहतर माहौल भी बनेगा। पिछले साल से नुमाइश में फूड कोर्ट की शुरुआत हुई थी।

नुमाइश में यहां बनेंगे फूड कोर्ट

गंगा-जमुनी तहजीब की प्रतीक अलीगढ़ की नुमाइश का इस बार 19 दिसंबर से लेकर 10 जनवरी तक आयोजन कराने का निर्णय हुआ है। ऐसे में अब इसकी तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। इस बार लोग हेलीकाप्टर से शहर देख सकेंगे। नुमाइश प्रशासन ने इसके लिए प्रयास करने शुरू कर दिए हैं। अफसर पायोनियर फ्लाइंग क्लब के अफसरों से इसके लिए बातचीत कर रहे हैं। जल्द ही इस पर अंतिम मुहर लगने की संभावना है। वहीं, इस बार नुमाइश मैदान में दो अलग-अलग फूड कोर्ट बनाए जाएंगे। कृष्णांजलि के सामने पहली बार फूड कोर्ट बनेगा। वहीं, पिछले सााल की तरह कोहिनूर मंच के बराबर में भी फूड कोर्ट खुलेगा। इससे नुमाइश प्रबधंन की आय तो बढ़ेगी साथ ही लोगों को बेहतर माहौल भी मिलेग। सिटी मजिस्ट्रेट प्रदीप वर्मा ने बताया कि नुमाइश में इस बार सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। ब्लाक एवं नगर पंचायतों से सफाई कर्मी रोटेशन के हिसाब से बुलाए जाएंगे। नुमाइश में दो फूड कोर्ट बनाए जाएंगे। इसमें एक फूड कोर्ट कृष्णांजलि के सामने होगा। वहीं, दूसरा कोहिनूर के बराबर में स्थापित होगा। शहर के प्रमुख लोग भी अपने परिवार के साथ यहां आकर नुमाइश का आनंद ले सकेंगे।

बिजली के काम की शुरुआत

नुमाइश मैदान में बिजली की सजावट का काम शुरू हो गया है। मंगलवार को इस काम को संभालने वाली संस्था के प्रोपराटर दीपक गुप्ता व सोम गुप्ता से विधि विधान से पूजा अर्चना की। वहीं, तहबाजारी में झूलों, मौत का कुआ समेत अन्य मनोरंजन से जुड़े कार्यों की भी शुरुआत हो गई है। बुधवार से पक्की दुकानों का आवंटन शुरू हो जाएगा।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena