अलीगढ़ (जेएनएन)।  टप्पल में रविवार को माहौल बिगाडऩे का प्रयास किया गया। हरियाणा के नूंह मेवात के सिंघार से टप्पल के गांव नरवारी जा रही बरात पर इलाके के ही गांव जहानगढ़ में बाइक सवार युवकों ने हमला कर दिया। हमला उस वक्त हुआ जब टप्पल में बच्ची की हत्या के विरोध में  प्रदर्शन हो रहा था। दो बाइकों पर सवार छह युवकों ने बरातियों को दौड़ा-दौड़कर तो पीटा ही उनकी दो स्कार्पियो में भी तोडफ़ोड़ की। बरातियों  को आसपास के घरों में छुपकर जान बचानी पड़ी। गांव के लोगों ने भी उनकी मदद की। टप्पल पुलिस ने गांव में जाकर पीडि़त बरातियों का हाल जाना, देर शाम तक रिपोर्ट दर्ज नहीं हो सकी थी।

हरियाणा से आई बरात

हरियाणा के नूंह मेवात के सिंघार गांव के अशफाक का रिश्ता टप्पल के गांव नरवारी निवासी महमूद की बेटी से हुआ था। रविवार को बरात नरवारी के लिए रवाना हुई थी। टप्पल में बच्ची की हत्या के चलते कुछ मार्गों में परिवर्तन किया गया था। इस कारण बरातियों को दूसरे रास्ते से जहानगढ़ होकर नरवारी जाना था। करीब डेढ़ बजे जहानगढ़ गांव से गुजरते समय पीछे से दो बाइक पर आए छह युवकों ने ईंट व डंडा से हमला कर दिया। बरात में शामिल मुश्ताक ने बताया कि हमलावरों ने दोनों गाडिय़ों के शीशे तोड़ दिए। बरातियों को गाड़ी से खींचकर पीटा। बच्चे व बुजुर्गों को भी नहीं बख्शा।

गाड़ियों पर पथराव

दुल्हन के पिता महमूद ने बताया कि दूल्हे के साथ कुछ बराती आ गए थे। उनकी आवभगत में लगे थे। दावत खाने आए गांव के लोगों ने बताया कि उनकी बरात की दो स्कॉर्पियो पर पथराव कर दिया है। सबकुछ छोड़कर मैंने गांव के लिए दौड़ लगा दी। प्रधानजी से पुलिस को फोन करने के लिए कहा। शादी की रस्म औपचारिकता बनकर रह गई।

बरातियों ने घरों में छिपकर बचाई जान

हरियाणा के नूंह मेवात के सिंघार से टप्पल के गांव नरवारी आ रही बरात पर रविवार को इलाके के ही गांव जहानगढ़ में दो बाइकों पर सवार छह युवकों ने हमला कर दिया। बरातियों को दौड़ा-दौड़कर पीटा। दो स्कॉर्पियो में तोडफ़ोड़ कर दी। गांववालों ने बरातियों को बचाया। टप्पल पुलिस ने गांव में पहुंचकर बरातियों का हाल जाना। देर शाम तक रिपोर्ट दर्ज नहीं हो सकी थी।

रास्ता भूल गए थे

नूंह मेवात के सिंघार निवासी अशफाक का रिश्ता टप्पल के गांव नरवारी में महमूद की बेटी से तय हुआ था। रविवार को बरात आ रही थी। टप्पल में बच्ची की हत्या के चलते कुछ मार्गों में परिवर्तन किया गया था। इस कारण बरातियों को दूसरे रास्ते से जहानगढ़ होकर नरवारी जाना था। दूल्हे को लेकर कुछ बराती गांव पहुंच गए। दो स्कॉर्पियो टप्पल होते हुए नरवारी पहुंचनी थीं। टप्पल में पुलिस की सख्ती के चलते बरात गांव का रास्ता भूल गई।

गांव के तंग रास्ते में बोला हमला

जहानगढ़ में जैसे ही स्कॉर्पियो गांव के बीचों-बीच तंग रास्ते में पहुंचीं। लाठी-डंडों से लैस युवकों ने हमला कर दिया। कार में सवार मुश्ताक ने बताया कि हमलावरों ने दोनों गाडिय़ों के शीशे तोड़ दिए। बरातियों को गाड़ी से खींचकर पीटा। बच्चे व बुजुर्गों को भी नहीं बख्शा। चालक अरशद ने बताया कि बच्चे चिल्लाने लगे। हम लोग जान बचाकर घरों में भागे। दूल्हा के बहनोई मोहम्मद तालिम ने बताया कि हमलावर गाड़ी में आग लगाने की धमकी दे रहे थे, लेकिन कुछ जांबाज गांव वालों के चलते ऐसा नहीं हो सका। उन्होंने गांव के दूसरे छोर पर तक पहुंचाया भी। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। घटना के पौन घंटे बाद पुलिस पहुंची। पुलिस ने बरातियों का इलाज व कार्रवाई करने की बजाय बरात में जाने को कह दिया।

निकाह भी समय से नहीं हो सका

हमले के चलते नियत समय पर निकाह की रस्म भी नहीं हो सकी। दुल्हन के पिता मौके पर पहुंचे। जिन लोगों को चोटें आई हैं, उनका इलाज कराया।

दो गाडिय़ों में थे ये बराती

एक स्कॉर्पियो में अरशद, मुस्ताक, शकील, हाशिम, आसिफ, सिमर, नासिर, राहिल, कासिम, जैन (13), हुसैन (8), तालिम। दूसरी में अब्दुल, इस्लामस, अली मोहम्मद, वकील, हकमुद्दीन, यासीन, आकिब, जाबिर (10), इदरीश व अकरम थे। इंस्पेक्टर संजय कुमार ने बताया कि बरातियों से तहरीर मांगी थी, लेकिन नहीं दी है। जांच की जा रही है। जो दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

संजय कुमार जायसवाल, इंस्पेक्टर टप्पल

बल्लभगढ़ से अलीगढ़  आ रहे परिवार को पीटा

टप्पल कांड की आड़ में कुछ अराजक तत्व माहौल खराब करने की फिराक में जुटे हैं। ऐसी ही एक घटना बल्लभगढ़ (हरियाणा) से कार में अलीगढ़ आ रहे परिवार को जट्टïारी के पास गले में भगवा गमछा डाले कुछ लोगों ने रोक लिया और पिटाई कर दी।

रिश्तेदारी में आए थे

बल्लभगढ़ निवासी शफी मोहम्मद, पूजा चौहान, बिलकिस, नाजरीन, हुमा, राजू, आजाद आदि अपनी रिश्तेदारी में अलीगढ़ आ रहे थे। कार सवारों का आरोप है कि टप्पल क्षेत्र में जट्टारी के पास युवकों ने कार को रुकवा लिया। युवकों ने उनसे धर्म के बारे में पूछा तो उन्होंने मना कर दिया। सभी ने एकराय होकर मारपीट कर दी। किसी तरह वे वहां से निकले और अलीगढ़ आकर पूर्व विधायक जमीरउल्लाह से मिले। पूर्व विधायक ने घटना से एसएसपी आकाश कुलहरि को अवगत कराया। एसएसपी के निर्देश पर पीडि़तों ने थाना सिविल लाइंस में मुकदमा दर्ज कराया।

नफरत फैलाने वालों पर हो कार्रवाई 

जमीन उल्लाह ने कहा कि ब'ची की हत्या से सब व्यथित हैं। दोषी को सख्त सजा मिलनी चाहिए। पुलिस किसी के दबाव में काम न करे। नफरत फैलाने वालों पर कार्रवाई करे। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Mukesh Chaturvedi