जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : उत्तरप्रदेशीय जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ शाखा अलीगढ़ का अधिवेशन सोमवार को राजश्री पैलेस सिघारपुर में हुआ। शिक्षक समस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर पदाधिकारियों ने आंदोलन के लिए हुंकार भरी। अधिवेशन में नवीन कार्यकारिणी की घोषणा भी की गई। पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को निर्विरोध निर्वाचित किया गया।

संगठन में लगातार तीसरी बार जिलाध्यक्ष चुने गए डा. प्रशांत शर्मा ने बताया कि इंद्रजीत सिंह को जिला महामंत्री व विश्वनाथ को कोषाध्यक्ष चुना गया। उपाध्यक्ष पद पर वासुदेव शर्मा, सतीशचंद्र शर्मा, सुधीर कुमार गौड़, सत्यपाल सिंह, जयंती देवी, अशोक कुमार को चुना गया। जिलामंत्री राकेश कुमार गौतम व संयुक्त मंत्री पद पर रचना शर्मा, विजय कुमार, राजकुमार सिंह, योगेंद्र प्रकाश, देवेंद्र कुमार, प्रतिभा वशिष्ठ को चुना गया। करुणेश पालीवाल को लेखाकार व रामसेवक को आय-व्यय प्रबंधन की जिम्मेदारी सौंपी गई। अधिवेशन में शिरकत करने आए प्रांतीय अध्यक्ष योगेश त्यागी ने कहा कि किसी शिक्षक के साथ अन्याय नहीं होने देंगे। पुरानी पेंशन योजना बहाल कराकर ही दम लेंगे। डीबीटी के तहत शिक्षकों से डेटा फीडिग कराना गलत है। अफसरों ने कार्रवाई की तो आंदोलन होगा।

जिलाध्यक्ष डा. प्रशांत शर्मा ने कहा कि अधिकारी संगठन की बात तक नहीं सुन रहे हैं। अधिकारियों का यही रवैया रहा तो प्रदेशस्तर पर आंदोलन चलाया जाएगा। प्रांतीय कोषाध्यक्ष सुरेश चंद्र, प्रांतीय उपाध्यक्ष विमल कुमार चौहान, मंडल उपाध्यक्ष राजेश शर्मा, कुलदीप शर्मा, महेश चंद राजपूत आदि मौजूद रहे।

....... शिक्षक पर कार्रवाई वापस लेने की मांग

अधिवेशन में शिक्षकों ने डीबीटी के कार्य न करने पर शिक्षकों के खिलाफ की गई कार्रवाई को वापस लेने की मांग भी उठाई। जिलाध्यक्ष ने कहा कि अफसर शिक्षक पर की गई कार्रवाई वापस नहीं लेते तो बीएसए दफ्तर पर ही धरना-प्रदर्शन किया जाएगा। डीबीटी के तहत डेटा फीडिग का काम शिक्षकों से न कराकर बीआरसी स्तर पर कंप्यूटर आपरेटर के जरिये कराने की मांग शिक्षक संघ पहले भी उठा चुका है। इसके बाद कार्रवाई करना बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

Edited By: Jagran