अलीगढ़, जेएनएन । एक कहाबत हैं नींद न देखे टूटी खाट, इश्क न देखे जात-पात... यह कहाबत इगलास कोतवाली में शनिवार को चरितार्थ होती दिखी। मामला अजब प्रेम की गजब कहानी का है। प्रेमिका दो तो प्रेमी चार बच्चों का बाप है। यह प्रेम कहानी आठ साल पुरानी है जो अब परवान चढ़ रही है।

हाथरस के सासनी क्षेत्र का मामला

हाथरस के थाना सासनी क्षेत्र के एक गांव निवासी युवक व युवती की आठ साल पहले आंखे चार हो गई। धीरे-धीरे दोनों का प्रेम परवान चढ़ा तो उन्होंने छुप-छुप कर मिलना शुरु कर दिया। जब स्वजन को दोनों के प्रेम प्रसंग के चर्चे पता चले तो एक गांव व अलग-अलग जाति के होने के कारण उन्हें यह रिस्ता मंजूर नहीं हुआ। युवक के स्वजन ने उसकी शादी दूसरी जगह कर दी। कुछ समय बाद प्रेमिका की भी शादी इगलास कोतवाली क्षेत्र के गांव में हो गई। वर्तमान में प्रेमिका पर दो बच्चे हैं और प्रेमी पर चार। शादी होने के कुछ साल तक दोनों का मिलना जुलना बंद रहा। पिछले कुछ साल से दोनों की पुन: फोन पर बात होने लगी। यहां तक कि दोनों अपने पति-पत्नी से छुपकर मिलने लगे। दो माह पहले दोनों घर से भाग गए और कोर्ट में जाकर शादी कर ली। प्रेमिका के पति ने कोतवाली में पत्नी को बहला फुसलाकर ले जाने का मामला दर्ज कराया था। शनिवार को कोतवाली पुलिस ने दोनों को पकड़ लिया। इस दौरान प्रेमिका का पति व प्रेमी की पत्नी बच्चों के साथ कोतवाली पहुंच गई और दोनों से अपने-अपने घर चलने के लिए कहा। लेकिन प्रेमी-प्रेमिका एक दूसरे का साथ छोडऩेे को तैयार नहीं हुए। प्रेमी दोनों महिलाओं को साथ रखने के लिए तैयार था लेकिन उसकी पत्नी ने सौतन को साथ रहने से साफ इंकार कर दिया। यह मामला क्षेत्र में चर्चा का विषय बना रहा।

कोर्ट के आदेश का इंतजार

इस संबंध में कोतवाल प्रदीप कुमार ने बताया कि दोनों ने कोर्ट में शादी की है। कोर्ट द्वारा दिए गए आदेशों का पालन करते हुए कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Anil Kushwaha