अलीगढ़, जेएनएन। थाना बन्नादेवी क्षेत्र के सारसौल स्थित गुरु रामदास नगर में एक मकान में चोरी के इरादे से घुसा चोर स्वजन के जाग जाने व शोर मचाने पर भाग खड़ा हुआ। छत से कूदने के प्रयास में उसका सिर रेलिंग से टकरा गया। गंभीर रूप से घायल हो जाने पर उसे जेएन मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया। जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।  दिलशाद चोरी के इरादे से घर में घुसा था। भागने के दौरान रेलिंग से सिर टकरा जाने से उसकी मौत हुई है। दिलशाद तीन बच्चों का पिता था। पत्नी शबनम समेत स्वजन बेहाल हैं। अभी पूरे मामले में चुप्पी साधे हुए हैं।

यह है मामला

सारसौल स्थित रामदास नगर साईं विहार कालोनी निवासी मनोज कुमार के घर में एक चोर चोरी करने के इरादे से देर रात जा घुसा। इसी दौरान किसी तरह खटपट की आवाज सुनकर मनोज व उनके स्वजन की आंख खुल गई। उन्होंने शोर मचा दिया। इस पर घर में घुसा चोर छत से नीचे कूदा तो लोहे की रेलिंग से उसका सिर टकरा गया। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। शोर-शराबे पर पड़ोसी व इलाका पुलिस आ गई। फिर घायल युवक को गंभीर हालत में पहले जिला अस्पताल फिर जेएन मेडिकल कालेज ले जाया गया। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बन्नादेवी इंस्पेक्टर विनाेद कुमार ने बताया कि युवक की पहचान 30 वर्षीय दिलशाद पुत्र मुश्ताक के रूप में हुई है। वह मूल रूप से सोरों (कासगंज) के इस्माइलपुर का रहने वाला है। वर्तमान में सारसौल में ही रहकर फर्नीचर का काम भी करता था। मकान मालिक मनोज कुमार के अनुसार दिलशाद चोरी के इरादे से घर में घुसा था। भागने के दौरान रेलिंग से सिर टकरा जाने से उसकी मौत हुई है। दिलशाद तीन बच्चों का पिता था। पत्नी शबनम समेत स्वजन बेहाल हैं। अभी पूरे मामले में चुप्पी साधे हुए हैं।