अलीगढ़, जागरण संवाददाता ।  खैर ब्लाक को ओडीएफ प्लस बनाने के लिए पंचायती राज विभाग ने कवायद शुरू कर दी है। 20 नवंबर तक इसे ओडीएफ प्लस घोषित करने का लक्ष्य तय हुआ है। सीडीओ की तरफ से इस ब्लाक के सभी प्रधानों को निर्देश दिए हैं कि ओडीएफ प्लस होने तक अन्य सभी कायों पर रोक रहेगी। केवल कूड़ा निस्तारण व जलभराव पर काम किया जाएगा, वंचित लोगों के शौचालय बनाए जाएंगे। ब्लाक में कुल 73 ग्राम पंचायत हैं। इन कार्यों में अब केवल ओडीएफ प्लस के तहत होने वाले कार्य ही होंगे।

2 अक्‍टूबर 2014 को शुरू हुआ था स्‍वच्‍छ भारत अभियान मिशन

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 को स्वच्छ भारत मिशन अभियान की शुरुआत की थी। इसका मकसद देश को खुले से शौच मुत बनाना था। शहर व देहात के लिए अलग-अलग विभागों को काम करने की जिम्मेदारी मिली। देहात क्षेत्र में पंचायती राज विभाग को यह काम करने का मौका मिला। जिले में इस अभियान के 867 ग्राम पंचायतों में ढाई लाख से अधिक शौचालय बनाए गए हैं। पिछले दिनों जिले को ओडीएफ भी घोषित कर दिया गया था। अब स्वच्छ भारत मिशन के तहत ओडीएफ प्लस की शुरुआत हुई है। पहले चरण में इसमें खैर ब्लाक का चयन हुआ है। इस ब्लाक की 79 पंचायतों में एक साथ अभियान चलाया जा रहा है।

गांव-गांव चल रहा अभियान

दो अक्टूबर गांधी जयंती के दिन से यहां पर इस अभियान की शुरुआत हुई थी। इसके तहत अब गांव-गांव अभियान चल रहा है। कूड़ा निस्तारण के लिए गांव-गांव गड्ढे खोदे जा रहे हैं। जलभराव की सममस्या का निदान किया जा रहा है। सीडीओ अंकित खंडेलवाल की ओर से भी इसके लिए आदेश जारी हो गया है। इसमें स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि जब तक पूरा ब्लाक ओडीएफ प्लस घोषित नहीं हो जाता है, तब तक अन्य साधारण कामों पर रोक रहेगी, जरूरी कार्य प्राथमिकता से कराए जाएं। सभी प्रधान ओडीएफ प्लस के इसे प्रोजेक्ट को गंभीरता से लें। इसमें कोई भी लापरवाही नहीं नहीं चाहिए। सभी गांव में एक साथ यह अभियान चलना है। इसके बाद अन्य ब्लाकों में भी अभियान की शुरुआत होगी।

Edited By: Anil Kushwaha