हाथरस, जागरण संवाददाता। कस्बा से सिकंदराराऊ जाने के लिए नगला विजन मार्ग पर चार वर्षाें से खराब पड़ा है। इस पर चलने वाले वाहनों के साथ राहगीरों को भी दिक्कतों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

देहात क्षेत्रों में सड़क मार्गों की दुर्दशा किसी से छिपी नहीं है। नगर पंचायत हसायन से नगला विजन होते हुए सिकंदराराऊ जाने वाले मार्ग की स्थिति बहुत खराब है। करीब 15 किलोमीटर लंबे इस मार्ग की अनदेखी की जा रही है। जगह-जगह गड्ढे होने से यहां जलभराव हो जाता है। यह मार्ग करीब तीन साल खराब है। इस मार्ग पर गुजरने वाले वाहन चालकों के साथ राहगीरों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। शिकायतों के बाद भी इस मार्ग को दुरस्त कराने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है।

मार्ग पर आए दिन हो रहीं दुर्घटनाएं

हसायन से सिकंदराराऊ जाने के लिए यह प्रमुख मार्ग है। तहसील के कार्य और बाजार के लिए जाने के लिए भी इसी मार्ग का प्रयोग होता है। बारिश के दिनों में तो इस मार्ग पर राहगीरों का निकलना भी मुश्किल हो जाता है। गड्ढों में फंसकर वाहन हिचकोले लेते हुए निकलते हैं। एक दूसरे को बचाने के चक्कर में दुर्घटनाएं भी हो रही हैं। राहगीरों के साथ आसपास के ग्रामीण इस जर्जर मार्ग से परेशान हैं।

मरम्मत के नाम पर हो रही खानापूर्ति

हसायन से रति का नगला मार्ग काफी खस्ता हो गया है। करीब छह किलोमीटर लंबा यह मार्ग लोगों के लिए रेल व बस यातायात के लिए प्रमुख साधन है। पांच से साल बाद इस मार्ग पर मरम्मत का कार्य किया जा रहा है। उसमें भी घटिया सामिग्री प्रयोग की जा रही है। इससे यह मार्ग बनने के कुछ समय बाद उखड़ता जा रहा है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि मरम्मत के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की जा रही है।

इनका कहना है

हसायन से रति का नगला व सिकंदराराऊ मार्ग नगर पंचायत के क्षेत्र में नहीं आते है। स्थानीय लोगों व राहगीरों की समस्याओं को देखते हुए संबंधित विभाग पीडब्लूडी से अनुरोध मार्ग बनाने के लिए किया गया है।

- वेदवती माहौर, अध्यक्षा नगर पंचायत हसायन

Edited By: Anil Kushwaha