अलीगढ़, जागरण संवाददाता। Vijayadashami 2022 : बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक रावण दहन को लेकर उत्साह है। बुधवार को अनेक स्थानों पर पुतलों का दहन किया जाएगा। गली, मोहल्लों और बाजारों में तैयारी की गईं हैं। लेकिन, 16 स्थानों पर रावण दहन देखने के लिए भीड़ जुटेगी। सबसे ऊंचा रावण के पुतले का दहन छर्रा में किया जाएगा। यहां 65 फीट का पुतला तैयार किया गया है। सबसे कम ऊंचाई 20-20 फीट के रावण के पुतलों का दहन पिसावा, अकराबाद और बरला में होगा।

अलीगढ़ व छर्रा ही में तीन पुतलों का दहन

दो स्थानों पर रावण के साथ अहिरावण व कुंभकरण के पुतलों का दहन किया जाएगा। इनमें अलीगढ़ में रावण का पुतला 60 फीट का होगा। अहिरावण व कुंभकरण के पुतले 55-55 फीट होंगे। छर्रा में कुंभकरण का पुतला 60 फीट व मेघनाथ का पुतला 20 फीट का होगा। गंगीरी व खैर में दो-पुतले होंगे। गंगीरी में रावण के अलावा कुंभकरण के पुतले का भी दहन किया जाएगा, जो 45 फीट का होगा। खैर में 25 फीट का अहिरावण का पुतला होगा।

अलीगढ़ में सबसे अधिक खर्चा

अलीगढ़ में पुतलों पर 3.50 लाख रुपये खर्च किए गए हैं। अकराबाद में 20 हजार, जवां में 16 हजार रुपये, जट्टारी में 20 हजार, इगलास में 30 हजार,  अतरौली 22 हजार, हरदुआगंज 25 हजार, गंगीरी 50 हजार, बरला के गांव गाजीपुर में 25 हजार, छर्रा में एक लाख, विजयगढ़ में 40 हजार, जलाली में 40 हजार, खैर में एक लाख और गभाना के सोमना रेलवे पुल के पास दहन होने वाले पुतलों पर करीब 25 हजार रुपये खर्च किए गए हैं। वीरपुरा में पुतलों पर 20 हजार रुपये खर्च किए गए हैं।

कहीं हंसेगा तो कहीं चलाएगा तलवार

अलीगढ़ में जलने से पहले रावण हंसेगा और तलवार चलाएगा। अकराबाद में आंखों से चिंगारी निकलेगी। छर्रा में रावण का पुतला हंसेगा और सिर के ऊपर चरखी घूमती नजर आएगी। विजयगढ़ में पुतला दहन से पूर्व रावण के विशेष प्रकार के दांत दिखाई देंगे।

रावण पुतला दहन के प्रमुख आयोजन

क्षेत्र, ऊंचाई, स्थान, समय शाम

छर्रा, 65, बाईंकलां रोड, 5 बजे

अलीगढ़, 60, नुमाइश मैदान, 7 बजे

गंगीरी, 50, गंगीरी चौराहा, 6 बजे

जलाली, 50, रावण टीला, 6 बजे

इगलास, 45, लाल बहादुर शास्त्री कालेज मैदान, 5 बजे

अतरौली, 45, नगाइचपाड़ा नहर के निकट, 5बजे

गभाना, 40, सोमना में रेलवे पुल के नीचे, 6:30 बजे

विजयगढ़, 40, एमजीजी एस इंटर कालेज, 6:30 बजे

जट्टारी, 35, हेतलपुर मार्ग पर, 6 बजे

हरदुआगंज, 35, तालानगरी के निकट, 6 बजे

खैर, 30, पड़ाव मैदान, 6 बजे

गभाना, 30, वीरपुरा हनुमान मंदिर के पास, 5:30 बजे

जवां, 30, बूढ़े बाबा मेला स्थल पर, 6:30 बजे

पिसावा, 20, रावण टीला, 7:15 बजे

अकराबाद, 20, तिराहे पर, 6 बजे

बरला, 20, गाजीपुर, 6 बजे

(पुतले की ऊंचाई फीट में है)

Edited By: Anil Kushwaha

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट