अलीगढ़ (जेएनएन)। कस्बा जट्टारी से 12 दिन से लापता ट्रांसपोर्टर प्रकाश चंद्र अग्रवाल की हत्या कर दी गई। उनका शव मथुरा के थाना सुरीर क्षेत्र की गंग नहर में मिला है। हत्या करने वालों व कारण का पता नहीं लग सका है।

12 दिन पहले पलवल जाने को निकले थे घर से

ट्रांसपोर्टर प्रकाश चंद्र अग्रवाल बीते पांच दिसंबर को भाई देवेंद्र अग्रवाल के साथ पलवल जाने की कहकर घर से निकले थे। इसके बाद वापस नहीं आए। उनकी बाइक पिसावा क्षेत्र में मिली। परिजनों ने गायब होने की रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई, लेकिन  11 दिसंबर को कारोबारी के ससुर ऋषि अग्रवाल ने थाना टप्पल में गुमशुदगी दर्ज कराई। मथुरा के थाना सुरीर क्षेत्र स्थित महमूदगढ़ी गांव के पास से गुजर रही गंग नहर से पुलिस ने शव निकलवाया। शव की पहचान जेब में मिले कागजातों के आधार पर हुई।

ससुरालियों ने हत्या का लगाया आरोप

ऋषि अग्रवाल व अन्य ससुरालियों ने आरोप लगाया है कि दामाद की सुनियोजित तरीके से हत्या की गई और साक्ष्य मिटाने के उद्देश्य से शव नहर में बहाया गया है। थाना सुरीर के इंस्पेक्टर महेंद्र कुमार का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद मौत के सही कारण की जानकारी हो सकेगी। मृतक की गुमशुदगी टप्पल थाने में पूर्व से ही दर्ज है, लिहाजा प्रकरण की जांच टप्पल पुलिस करेगी। इंस्पेक्टर टप्पल संजय पांडेय ने बताया कि मामले में जांच जारी है, जल्द ही पूरे घटनाक्रम का राजफाश किया जाएगा।

Posted By: Mukesh Chaturvedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप