अलीगढ़ : हाथरस के गांव जोगीपुरा में गाजियाबाद की रहने वाली एक विवाहिता की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। ससुराल वालों ने मायके वालों का आने का इंतजार तक नहीं किया। आनन-फानन विवाहिता का अंतिम संस्कार भी कर दिया। इसको लेकर आसपास के लोगों में तरह-तरह की चर्चा है। इस मामले में ससुरालियों के खिलाफ दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया गया है।

ऊषा पत्नी रवि कुमार निवासी जोगीपुरा हाथरस की पांच महीने पहले ही शादी हुई थी। बुधवार को महिला की मौत हो गई। चीख-पुकार सुनकर पड़ोसी भी आ गए। पड़ोसियों को जानकारी दी गई कि ऊषा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। एक डायरी पर सुसाइड नोट भी छोड़ गई है। इस नोट में लिखा था कि वह अपनी मौत के लिए खुद जिम्मेदार है। ससुराल वालों ने पुलिस को भी घटना की सूचना नहीं दी। खास बात यह है कि मायके वालों को भी देरी से जानकारी दी गई। गाजियाबाद से उनके पहुंचने का इंतजार तक नहीं किया गया। उससे पहले ही विवाहिता का अंतिम संस्कार कर दिया। जब तक मायके वाले पहुंचे तब तक अंतिम संस्कार हो चुका था। लड़की की मां सुनीता ¨सह निवासी साहिबाबाद, गाजियाबाद ने ससुरालियों पर बेटी की हत्या कर शव जलाने का आरोप लगाया। उनका आरोप है कि शादी के बाद से ही अतिरिक्त दहेज के लिए ऊषा को प्रताड़ित किया जा रहा था। उन्होंने बेटी के पति रवि, ससुर अमर ¨सह व सास के खिलाफ दहेज उत्पीड़न व हत्या में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप