अलीगढ़, जेएनएन : मलिन बस्तियों में विकास के प्रशासनिक दावे अवतार नगर क्षेत्र में खोखले साबित हो रहे हैं। यहां गड्ढों में बसी आबादी बदहाली की पीड़ा सुना रही है, जिसे मिट्टी डालकर पाटने का प्रयास हो रहा है। विकास कार्य के नाम पर कुछ हिस्से में मिट्टी का भराव करा दिया, बाकी हिस्सा यूं ही छोड़ दिया। खाईनुमा गलियों में लोगों का जीना मुहाल है। नाले-नालियां भी नहीं बने, न ही वाटर लाइन डाली गई। पोल लगाए बगैर ही बिजली लाइन खींच दी गई। रविवार को दैनिक जागरण टीम ने इस क्षेत्र के हालातों का जायजा लिया। लोगों ने बताया कि कोई जनप्रतिनिधि उनकी परेशानी देखने नहीं आया, क्षेत्रीय पार्षद ने भी दूरी बढ़ा ली है। 

सड़क से पांच-छह फुट नीचे हैं गलियां

सासनीगेट क्षेत्र के वार्ड-9 में भदेसी रोड पर अवतार नगर की कई गलियां बसी हैं। शहर विधायक संजीव राजा के कोटे से कुछ गलियों में सड़क व नालियां बना दी गईं, लेकिन छह-सात गलियां छूट रही हैं, जहां विकास के नाम पर कुछ नहीं हुआ। मुख्य सड़क से गलियां पांच-छह फुट नीचे हैं। बारिश में जलभराव होने पर लोगों ने हो हल्ला किया तो बाहरी हिस्से में भराव करा दिया गया, लेकिन पिछला हिस्सा ऐसे छोड़ दिया। फिर अफसरों ने मुड़कर नहीं देखा। गली-दो निवासी सूरज सिंह बताते हैं कि भदेशी रोड पर एक साइड में नाला और सड़कें बना दी गईं, दूसरी तरफ कोई विकास नहीं कराया गया। मिट्टी से आधी-अधूरी गलियां पाटकर अधिकारियों ने इतिश्री कर ली। निकासी न होने पानी गड्ढ़ों में जमा होता है। वाहन निकालना का दूर, पैदल चलना भी दूभर है। गंदगी, दुर्गंध ने जीना मुहाल कर दिया है। वाटर लाइन तक नहीं है, हैंडपंप भी खराब पड़े हैं। 

बिना पोल के बिजली लाइन

बिजली विभाग में घरों में कनेक्शन जरूर दिए, मगर पोल नहीं लगाए। स्थानीय लोगों ने बांस, बल्ली लगाकर लाइन साध रखी है। अक्सर फाल्ट होता है। हादसे की संभावना भी बनी रहती है। इस हालात पर नगर आयुक्त सत्यप्रकाश पटेल का कहना है भदेशी रोड पर नाला निर्माण हाल ही में कराया गया है। कई सड़कें पक्की हो चुकी हैं। कुछ के टेंडर उठ चुके हैं, जल्द बन जाएंगी। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस