अलीगढ़ [जेएनएन]। पुलिस भर्ती व टीईटी की परीक्षा के लिए प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने परीक्षा की पारदर्शिता के लिए पुख्ता इंतजाम कर रखे थे। बावजूद शातिरों ने सेंध लगा दी। 

ऐसे पकड़े गए मुन्नाभाई

पुलिस भर्ती परीक्षा में अलीगढ़ के तीन अभ्यर्थी व एक सॉल्वर कानपुर में पुलिस ने गिरफ्तार किए हैं।  इनमें गौंडा थाना क्षेत्र के गांव तलेसरा निवासी देवराज, लवकेश कुमार व टप्पल थाना क्षेत्र के गांव मौर निवासी कपिल व गांव खेड़ाकिशन निवासी  रितेश कुमार हैं। वहीं, शिक्षक पात्रता परीक्षा के दौरान हाथरस के हरचरनदास गल्र्स इंटर कॉलेज से एक सॉल्वर मनीष कुमार ङ्क्षसह निवासी पारथू, नालंदा बिहार, थाना सिकंदर, पटना (बिहार) को पुलिस गिरफ्तार किया है। वह अंकुर वर्मा निवासी रानी कोठी, सीतापुर के स्थान पर परीक्षा दे रहा था। यह कार्रवाई आगरा में पकड़े गए एक सॉल्वर से मिली जानकारी के आधार पर की गई।

फर्जी मोहर लगाते गिरफ्तार

अलीगढ़ के टीकाराम कॉलेज के बाहर से सासनी गेट क्षेत्र स्थित कृष्ण बिहार कॉलोनी निवासी अमन गुप्ता को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोप है कि वह परीक्षार्थियों के कागजात पर एबीएसए की फर्जी मोहर लगा रहा था। खास बात यह है कि प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने परीक्षा की पारदर्शिता के लिए पुख्ता इंतजाम कर रखे थे। बावजूद शातिरों ने सेंध लगा दी।

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस