अलीगढ़, जेएनएन। उत्तर प्रदेश की अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) परिसर में सर सैयद डे पर रविवार देर रात उस समय हंगामा खड़ा हो गया जब कार सवार तीन युवकों ने नारेबाजी शुरू कर दी। आरोप है कि युवकाें ने भड़काऊ नारे लगाए इससे कैंपस का माहौल गरमा गया। सर सैयद डे पर रोशनी से नहाई इमारतों को देखने आए लोग भी भड़क गए। उन्होंने युवकों का विरोध किया। अच्छी बात ये रही कि प्राक्टोरियल टीम ने युवकों को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। इसके बाद भी बड़ी संख्या में लोग कैंपस में जमा हो गए। प्राक्टोरियल टीम ने उन्हें शांत तो किया है कैंपस की लाइट भी बंद करा दी। इसके बाद ही लोग वहां से हटे।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी कैंपस में रविवार देर रात करीब 11 बजे नैनो कार में सवार तीन लोग कैंपस से बाबे-सैयद गेट से शोर करते हुए बाहर की तरफ निकल रहे थे। तभी गेट पर सुरक्षाकर्मियों ने इन्हें रोक लिया। इस दौरान सुरक्षाकर्मियों से युवकों की कहासुनी होने लगी, तभी युवकों ने भड़काऊ नारेबाजी कर दी। इससे अन्य लोग इकट्ठा हो गए और हंगामा होने लगा। प्राक्टोरियल टीम ने पुलिस को सूचना दे दी। इंस्पेक्टर वीपी गिरी ने तीन युवकों को हिरासत में ले लिया है।

सीओ तृतीय श्वेताभ पांडेय ने बताया कि नारेबाजी वाली बात गलत है। तीनों युवकों को सुरक्षाकर्मियों ने गेट पर रोका था, तभी कहासुनी हुई थी। युवक कहां के हैं अभी पता नहीं चल सका है। नशे में भी हैं। सभी का मेडिकल कराया जा रहा है। उधर, प्राक्टर प्रो. एम वसीम अली ने बताया कि पकड़े गए युवकों का कैंपस से कोई सरोकार नहीं है। डक प्वाइंट पर भड़काऊ नारेबाजी की थी। इसके बाद सुरक्षा कर्मियों ने घेराबंदी कर उन्हें पकड़ लिया। कैंपस का माहौल खराब करने की साजिश थी जिसे नाकाम कर दिया है। युवकों की खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

Edited By: Umesh Tiwari