अलीगढ़, जागरण संवाददाता। लोधा के निकट थाना रोरावर के गांव तालसपुर निवासी शाहबुद्दीन किराये पर आटो रिक्शा चलाकर परिवार का भरण पोषण करता है। मंगलवार शाम को वह सवारियों के इंतजार में नादा चोराहे पर खड़ा था। तभी एक अनजान युवक एक बोरा लिये वहां आया और बोरे में पचास किलो पीतल बताकर टेंपो को 250 रुपये में बरौला एवं मसूदाबाद के लिये तय कर लिया। सवारी बनकर बैठा ठग मसूदाबाद पहुंचा और एक फैक्ट्री के पास टेंपो को रुकवाया। टेंपो चालक से 120 रुपये मांगे कि बुश बनवाकर लाता हूं। पूरा हिसाब वापसी में करुंगा। मेरे पीतल भरे बोरे का ध्यान रखना। इतना कहकर ठग गली में चला गया। बेचारे टेंपो चालक ने काफी देर इंतजार किया मगर युवक वापस नहीं लौटा। जब मन नहीं माना तो बोरे को टटोला तो उसमें पत्थर भरे थे। पत्थर देखते ही टेंपो चालक तनिक देर में ही समझ गया कि वह ठगी का शिकार हो गया। टेंपो चालक वापस सवारियों की तलाश में नादा पुल पहुंचा।सारी घटना अपने परिचितों को बताई मगर ज्यादा रकम की घटना ना होने के कारण पुलिस को सूचित नहीं किया।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena