जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : रविवार को उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) का आयोजन किया गया। सुबह 10 से 12:30 बजे और दोपहर 2:30 से शाम पांच बजे की दो पालियों में परीक्षा कराई गई। पहली पाली में प्राइमरी सेक्शन की परीक्षा के लिए पंजीकृत 18,888 अभ्यर्थियों में से 16982 हाजिर अभ्यर्थी रहे। दूसरी पाली में अपर प्राइमरी सेक्शन की परीक्षा के लिए पंजीकृत 12726 अभ्यर्थियों में से 11279 हाजिर व 1447 गैरहाजिर रहे। कोरोना गाइडलाइंस के बीच परीक्षा कराई गई। कड़ाके की ठंड के बीच विज्ञान व चाइल्ड डेवलपमेंट एंड पैडागोजी (सीडीपी) विषयों के कठिन सवालों ने अभ्यर्थियों के पसीने छुड़ाए। 28 नवंबर 2021 को पेपर लीक होने के चलते परीक्षा रद की गई थी। अब करीब दो महीने बाद अभ्यर्थियों ने फिर परीक्षा दी।

डीएम सेल्वा कुमारी जे. ने भी परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया। सीसीटीवी कैमरों के जरिये भी केंद्रों की कक्षाओं में चल रही परीक्षा पर नजर रखी गई। डीआइओएस डा. धर्मेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि केंद्रों के मुख्य गेट पर थर्मल स्क्रीनिग व हैंड सैनिटाइज कराकर ही अभ्यर्थियों को प्रवेश दिया गया। मास्क लगाने व शारीरिक दूरी के नियम का पालन कराया गया। सुबह की पाली के लिए 38 व दूसरी पाली के लिए 26 केंद्र थे। प्रश्नपत्र व ओएमआर शीट खुलने व सील होने की वीडियो रिकार्डिंग कराई गई। पहली पाली में 19 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 38 स्टेटिक मजिस्ट्रेट, 76 विभागीय पर्यवेक्षक व 13 सचल दल लगाए गए। दूसरी पाली में 13 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 26 स्टेटिक मजिस्ट्रेट, 52 विभागीय पर्यवेक्षक व नौ सचल दलों की निगरानी में परीक्षा कराई गई। केंद्रों के बाहर पुलिस मौजूद रही। किसी केंद्र पर नकल नहीं पकड़ी हुई। परीक्षा केंद्रों से बाहर आए अभ्यर्थियों ने बताया कि प्राइमरी सेक्शन का पेपर आसान व अपर प्राइमरी सेक्शन का कठिन था।

........

परीक्षा की लंबे समय से तैयारी की थई। पेपर आसान आया था। मगर विज्ञान व सीडीपी के प्रश्न कठिन थे। इसमें समय लगा। परीक्षा बढि़या हुई है।

विनोद कुमार, सिकंदराराऊ पेपर न आसान था न कठिन। मजबूत तैयारी थी। सभी प्रश्न हल किए। कुछ प्रश्नों ने परेशान किया। इन्हें हल करने में समय लगा। परीक्षा शानदार हुई है।

रेनू सिंह, जयगंज तैयारी के बाद परीक्षा दी है। कोरोना संक्रमण से बचने की चुनौती थी। सीडीपी के प्रश्न कठिन थे तैयारी बेहतर की थी। अच्छे स्कोर की उम्मीद है।

ज्योति शर्मा, क्वार्सी आनलाइन माध्यम से तैयारी की थी। सभी प्रश्न हल किए। कुछ प्रश्न कठिन थे, जिन्हें हल करने में समय लगा। पूरा पेपर किया, बेहतर परीक्षा हुई है।

शालू, पीएसी

Edited By: Jagran