अलीगढ़, जेएनएन।  कोरोना की रफ्तार कम होने के बाद पुलिस अब शहर की यातायात व्यवस्था को सुधारने पर जोर दे रही है। इसके लिए जल्द ही विशेष अभियान चलाया जाएगा। इसमें एक तरफ पुलिस लोगों को सुविधाएं देने पर काम करेगी, तो दूसरी तरफ नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी करेगी।

शहर की यातायात व्यवस्था चरमराई हुई है। कई बार इसके लिए कार्ययोजना बनाई गई। लेकिन, अमल न होने के कारण सुधार नहीं हो सका। शहर में ई-रिक्शा धड़ल्ले से बाजारों में घूमकर जाम का कारण बनते हैं। वहीं पुलिस लाइन, कचहरी, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड व अन्य सरकारी दफ्तरों पर आड़े-तिरछे खड़े रहते हैं। ऐसे में ये वाहन जाम का कारण बनते हैं। वहीं शहर की यातायात व्यवस्था को भी खराब करते हैं। पहले जिले में ट्रैफिक लाइन न होने के चलते पुलिस कार्रवाई नहीं कर पाती थी। वाहन लावारिस अवस्था में खड़ा रहता था। पुलिस सिर्फ चालान काटने तक ही सीमित रहती थी। मगर अब सुरक्षा विहार में ट्रैफिक लाइन बनाई गई है। ऐसे में पुलिस आड़े-तिरछे खड़े होने वाले वाहनों के खिलाफ शिकंजा कसेगी। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि ई-रिक्शा को लेकर रूट और रंग निर्धारित किए जाएंगे। इसके साथ ही इनके चालान काटने के साथ जब्त करके पुलिस लाइन में खड़ा किया जाएगा। अवैध रूप से वाहन को पार्क करने वाले या यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों के ई-चालान काटे जाएंगे। इसके अलावा विशेष अभियान चलाकर ट्रैफिक के सुधार पर काम होगा। यातायात नियमों का पालन न करने वालों पर भी अब सख्ती की जाएगी।