हाथरस, जागरण संवाददाता। हाथरस जंक्शन पर ओवरब्रिज के नीचे सर्विस मार्ग की स्थिति काफी खराब है। करीब 15 सालों से सड़क नहीं बनने के कारण यहां आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं। रेलवे कालोनी सहित करीब 20 गांव के लोगों का आवागमन इस रास्ते से होता है। शिकायतों के बाद भी इस जर्जर मार्ग की ओर कोई ध्यान नहीं दिया गया। उत्तर-मध्य रेलवे के हाथरस जंक्शन स्टेशन के पास मथुरस- बरेली राजमार्ग पर ओवरब्रिज बने 15 वर्ष से अधिक का समय हो गया। इस मार्ग पर हाथरस की तरफ एक ओर व सिकंदराराऊ की तरफ दोनों ओर सर्विस रोड है। यहां रेलवे क्रासिंग का गेट ओवरब्रिज बनने के बाद सहे स्थाई रूप से बंद कर दिया गया। सर्विस रोड से लोगों का आवागमन बाजार व कस्बा आने के लिए होता है। इसके बाद भी इस जर्जर सड़क को अभी तक नहीं बनाया गया।

बारिश में मुश्किल हो जाता है रास्ता निकलना

रेलवे ट्रैक पर ओवरब्रिज बनने के बाद भी अभी तक सर्विस रोड पर कोई मरम्मत का कार्य नहीं हुआ है। इस सड़क पर जगह-जगह गहरे गड्ढे हो गए हैं। सड़क पूरी तरह क्षतिग्रस्त है। पानी निकासी का कोई साधन नहीं होने से सड़क पर ही जलभराव हो रहा है। बारिश में तो इस मार्ग से पैदल निकलना भी लोगों के लिए मुश्किल हो जाता है। आए दिन यहां दुर्घटनाएं होती रहती हैं।

रेलवे कालोनी सहित परेशान कई गांव के लोग

सर्विस रोड से हाथरस से हाथरस जंक्शन आने के लिए टेंपो स्टैंड बना है। इस सड़क से गुजरने समय टेंपो व राहगीर दुर्घटनागस्त हो जाते हैं। इसके अलावा रामपुर, न्यूरामपुर, रेलवे कालोनी, बबूलगांव, फरौली, भोपतपुर, नगला रामबल, अजीतपुर सहित करीब बीस गांव के लोगों का आवागमन होता है। महेशचंद व शिवकुमार का कहना है कि शिकायतों के बाद भी इस मार्ग पर मरम्मत के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena