जासं, अलीगढ़ : अखिल भारत हिदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव डा. अन्नपूर्णा भारती ने सोमवार को अनशन समाप्त कर दिया। डा. अन्नपूर्णा यति नरसिंहानंद सरस्वती व जितेंद्र नारायण त्यागी (वसीम रिजवी) की गिरफ्तारी के विरोध में तीन दिनों से धरने पर थीं। सोमवार को सभी संतों ने सर्वसम्मति से अनशन समाप्त करने का निर्णय लिया। आगे लड़ाई जारी रखने का एलान किया है।

हरिद्वार में हुई धर्म संसद में सबसे पहले जितेंद्र नारायण त्यागी को गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद यति नरसिंहानंद सरस्वती को गिरफ्तार कर लिया गया। इसके विरोध में उत्तराखंड समेत देश के कई स्थानों पर संत अनशन पर बैठ गए थे। नौरंगाबाद स्थित अखिल भारत हिदू महासभा के कार्यालय पर राष्ट्रीय सचिव डा. अन्नपूर्णा भारती अनशन पर बैठ गई थीं। वह लगातार तीन दिनों से अनशन पर थीं। प्रतिकार सभा में उत्तराखंड सरकार पर जमकर हमला किया। सोमवार को दोपहर में उत्तराखंड से अनशन समाप्त करने का संदेश आया। बताया गया कि हमें अब और ताकत से लड़ाई लड़नी है। इसलिए इस मामले में संत समाज जल्द ही कोई बड़ा निर्णय लेगा।

.......

कोरोना संक्रमण के फैलाव के चलते धर्म संसद स्थगित

जासं, अलीगढ़ : अचलताल स्थित रामलीला मैदान में 22 व 23 जनवरी को होने वाली धर्म संसद स्थगित कर दी गई है। यह निर्णय बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए लिया गया गया है। आयोजक डा. अन्नपूर्णा भारती ने बताया कि माहौल ठीक होते ही तिथि घोषित कर दी जाएगी।

हरिद्वार में हुई धर्म संसद के बाद अलीगढ़ में भी इसके आयोजन की तैयारी शुरू हो गई थी। सनातन हिदू सेवा संस्थान की ओर से 22 व 23 जनवरी को रामलीला मैदान में यह प्रस्तावित थी। सोमवार को डा. अन्नपूर्णा भारती ने बताया कि जिले में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है। हमारे लिए लोगों का स्वास्थ्य पहली प्राथमिकता है। इसलिए कोर कमेटी संयोजक स्वामी आनंद स्वरूप महाराज से धर्म संसद की तिथि पर पुनर्विचार के लिए आग्रह किया गया, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया। वैसे भी धर्म संसद कोर कमेटी के सदस्यों की गिरफ्तारी से भी मन आहत है। कोरोना भी बढ़ रहा है। डा. अन्नपूर्णा ने बताया कि आगामी तिथि धर्म संसद कोर कमेटी की बैठक में घोषित की जाएगी।

Edited By: Jagran