हाथरस, जागरण संवाददाता। गर्मियों की छुट्टियों के बाद शुक्रवार से सीबीएसई बोर्ड सहित सभी विद्यालय खुल गए। विद्यालय की यूनीफार्म में स्कूल जा रहे बच्चे सभी के आकर्षण का केंद्र बने हुए थे। स्कूल के प्रवेश द्वारों बच्चे एक दूसरे से हाल चाल पूछते नजर आए। हालांकि पहले दिन होने और मौसम खराब होने के चलते उपस्थिति कम रही।

स्‍कूलों में बच्‍चों ने की मस्‍ती

एक से लेकर 12 वीं तक के विद्यालयों में शुक्रवार को रौनक लौट आई। स्कूलों में बच्चों की चहल-पहल दिखने लगी। करीब चालीस दिन बाद बच्चों ने स्कूल में कदम रखा तो वह भी काफी खुश दिख रहे थे। 20 अप्रैल के बाद सभी विद्यालयों को ग्रीष्मकालीन अवकाश के लिए बंद कर दिया गया था। भीषण गर्मी के चलते छुट्टियां होने से बच्चों ने भी राहत की सांस ली। छुट्टियां बिताने के बाद फिर से बच्चें किताबों को बैग लेकर अपने-अपने स्कूल पहुंचे। बच्चों को स्कूल भेजने के लिए अभिभावकों ने सभी तैयारियां पहले से कर रखी थीं।

पहले दिन कम रही बच्चों की उपस्थिति

सीबीएसई बोर्ड सहित एक से कक्षा 12वीं तक के सभी स्कूल शुक्रवार से खुल गए। बच्चों ने अभिभावकों के साथ पिकनिक, पर्यटन स्थल व नाना-नानी के यहां जाकर अपनी छुट्टियां बिताई। स्कूल खुलने की तिथि नजदीक आते ही सभी बच्चे अपने घरों को पहुंच गए थे। उन्होंने घर पर रहकर अपने होमवर्क को निपटाने का कार्य किया। पहले दिन बीएलएस, सेंट फ्रासिंस, एसएसडी सहित सभी स्कूलों में उपस्थिति कम रही।

चार जुलाई से शुरू होंगी प्रेप की कक्षाएं

सीबीएसई बोर्ड सहित सभी कान्वेंट स्कूल शुक्रवार से खुल गए। इनमें एक से 12 वीं कक्षाओं के विद्यार्थियों को ही बुलाया गया था। इसमें छोटी कक्षाओं एलकेजी व यूकेजी के बच्चों की कक्षाएं चार जुलाई से शुरू होंगी। इनमें नन्हें मुन्नों को स्कूल जाना होगा। इसके लिए बच्चों को भेजने के लिए अभिभावक अभी से तैयारियों में लग गए हैं। अभिभावकों द्वारा बच्चों को पढ़ाई का रिवीजन भी घर पर कराया जा रहा है।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena