अलीगढ़ (जेएनएन)।  इगलास विधानसभा उप चुनाव में सुमन दिवाकर का पर्चा खारिज होने की जांच के लिए रालोद की तीन सदस्यीय कमेटी आई। पहले जीटी रोड स्थित रामदास नगर में नामांकन के दौरान मौजूद प्रत्यक्ष दर्शियों से मुलाकात की। यहां पार्टी के कुछ जिम्मेदार पदाधिकारियों की शिकायत शिकवा का दौर चला। उनकी भूमिका भी संदिग्ध बताई।

प्रशासन पर लगाए आरोप

अनुशासन समिति  के चेयरमैन व पूर्व मंत्री धर्मवीर बालियान (मुजफ्फर नगर) ने वरूणालय गेस्ट हाउस में मीडिया के समक्ष पर्चा खारिज का ठीकरा प्रशासन के सिर फोड़ा। इन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के दवाब में हमारे प्रत्याशी का पर्चा खारिज किया। जबकि नामांकन के प्रपत्र पूरे थे। यह भी दावा किया है कि रिटर्निंग ऑफीसर अपने चैंबर से बाहर निकलकर बार बार किसी को रिपोर्ट दे रहे थे। जबकि हमारे कार्यकर्ताओं को बहार निकाल दिया। छपरौली के पूर्व सत्यपाल सिंह तोमर व विधायक सुदेश शर्मा ने कहा कि हम इस मामले को कोर्ट ले जा रहे हैं। भाजपा को सबक सिखाने के लिए दल का शीर्ष नेतृत्व ही फैसला लेगा। फैसला दो दिन में होगा। इस मौके पर जिलाध्यक्ष रामबहादुर चौधरी, महानगर अध्यक्ष अनीस चौहान, सीपी सिंह धनगर, जियाउर्रहमान, प्रेमसिंह जाटव आदि मौजूद थे।

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस