अलीगढ़, जागरण संवाददाता।  33 केवी सब स्टेशनों पर निर्बाध बिजली की आपूर्ति के लिए विभाग उन्हें एक दूसरे से जोड़ने का काम कर रहा है। इससे उपभोक्ताओं को लंबे समय तक बिना बिजली के नहीं रहना पड़ेगा। विभाग रिंगमैन परिपथ के माध्यम से सब स्टेशनों की सप्लाई को एक दूसरे जोड़ने से यह संभव होगा।

उपभोक्‍ताओं की समस्‍या का होगा निराकरण

अब तक ट्रांसफार्मर, वीसीबी (वेक्यूम सर्किट ब्रेकर) व केबल व अन्य में खराबी से होने वाले ब्रेकडाउन के कारण शटडाउन लेना पड़ता था। इससे उपभोक्ताओं को कई घंटे तक बिजली का सामना करना पड़ता है। कंट्रोल रूम पर फोन करने पर यही जवाब मिलता था कि फाल्ट सही होने पर ही बिजली की लाइन चालू होगी। ऐसे में उपभोक्ता असहाय नजर आता है। इस समस्या को देखते हुए बिजली विभाग ने 33 केवी सब स्टेशनों पर रिंगमैन परिपथ बनाने का निर्णय लिया है।

क्या है रिंगमैन परिपथ

रिंगमैन परिपथ में सब स्टेशन पर बिजली जाने पर दूसरे सब स्टेशन से लिंक कर दिया जाएगा। इसके लिए ऐसा सर्किट तैयार किया जा रहा है कि प्रभावित सब स्टेशन पर ब्रेकडाउन की स्थिति में उस सब सब स्टेशन से जोड़ दिया जाएगा जहां पर आपूर्ति सामान्य चल रही है। इसमें लोड का भी ध्यान रखते हुए ट्रांसफार्मरों की क्षमता वृद्धि की जा रही है।

समय समय पर शटडाउन लेकर चल रहा काम

शहर में हाथरस अड्डा 33 केवी सब स्टेशन पर रिंगमैन परिपथ का काम शुरू कर दिया गया है। इसके लिए समय- समय पर शटडाउन लेकर रिंगमैन परिपथ बनाने का काम किया जा रहा है। ऐसा सर्किट तैयार किया जा रहा है कि ब्रेकडाउन की स्थिति हाथरस अड्डा सब स्टेशन को सासनी गेट और भुजपुरा से जोड़ा जा सकता है। इसके बाद शहर के 33 केवी गांधी पार्क, सासनी गेट व अन्य सब स्टेशनों पर कार्य किया जाएगा।

Edited By: Anil Kushwaha