अलीगढ़, जेएनएन ।  सरकारी राशन के दुकानदारों को अब गोदामों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। अब हर महीने सीधे कोटेदारों के गोदाम व घर पर ही राशन पहुंच जाया करेगा। पूर्ति विभाग ने इसके लिए खाका तैयार कर लिया है। जुलाई के राशन उठान के साथ ही अलीगढ़ समेत पूरे प्रदेश में इसकी शुरुआत हो जाएगी। पारदर्शिता के लिए लखनऊ से ही दुकानों पर राशन पहुंचाने वाले ट्रकों पर नजर रखी जाएगी। जीपीएस से इन वाहनों को लैस किया गया है। इस फैसले से जिले के कोटेदारों बड़ा फायदा होगा।

जिले में 1300 से अधिक दुकानों पर साढ़े छह लाख राशन कार्डधारक

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत जिले की कुल 1300 से अधिक दुकानों पर साढ़े छह लाख राशन कार्ड धारक हैं। इनमें 24 हजार अंत्योदय कार्ड धारक हैं। जबकि, अन्य पात्र गृहस्थी की श्रेणी के कार्ड धारक हैं। सरकार इन कार्ड धारकों को सस्ती दरों में हर महीने गेहूं, चावल देती है। बीच बीच में चीनी व मक्का का वितरण भी होता है। अब तक ब्लाक स्तरीय एसएफसी के गोदामों से डीलरों को यह राशन मिलता था। इसमें घटतौली की शिकायतें मिलती थीं। इससे निपटने के लिए अब प्रदेश सरकार ने सीधे कोटेदारों के यहां राशन पहुंचाने का फैसला लिया है। जुलाई माह के वितरण का राशन सीधे कोटेदारों के घर पहुंचेगा। विभाग ने इसकी तैयारी कर ली है।

जीपीएस से लैस हुए ट्रक

पूर्ति विभाग ने जिले की सभी राशन की दुकानों का रूटचार्ट बनाकर गूगल पर अपलोड कर दिया है। इस रूटचार्ट के हिसाब से दुकानों पर राशन पहुंचाने वाले ट्रकों में जीपीएस लगाए जा रहे हैं। लखनऊ से इन जीपीएस से ट्रकों की निगरानी होगी। जिला स्तरीय अफसर भी नजर रख सकेंगे। इस निर्णय के बाद काफी हद तक घटतौली व कालाबाजारी की शिकायतें कम हो जाएंगी।

खैर में हुआ था ट्रायल

पिछले साल सूबे भर के एक दर्जन के करीब जिलों में इस नई व्यवस्था का ट्रायल हुआ था। इसमें अलीगढ़ का खैर ब्लाक भी शामिल था। इस ब्लाक में कई महीने सीधे राशन की दुकानों पर खाद्यान पहुुंचाया गया। इसमें तमाम अड़चनें भी आईं। विभागीय अफसरों ने इनकी रिपोर्ट बनाकर शासन में भेजी। वहां से इनमें सुधार के साथ पूरे प्रदेश के सभी जिलों में शुरुआत करने का फैसला लिया गया है।

इनका कहना है

शासन स्तर से अलीगढ़ समेत पूरे प्रदेश में जुलाई से राशन सीधे कोटेदारों के यहां पहुंचाने का फैसला लिया है। इसके लिए पूरी तैयारी हो गई है। सभी दुकानों का रूटचार्ट तैयार कर गूगल पर अपलोड कर दिया गया है। जून के अंतिम दिनों में ही उठान शुरू हो जाएगा।

राजेश कुमार सोनी, जिला पूर्ति अधिकारी

Edited By: Anil Kushwaha