अलीगढ़, जागरण संवाददाता। Aligarh Poisonous Liquor Case : जहरीली शराब प्रकरण में मुख्य आरोपित Mafia Rishi Sharma के बाद अब फिरोजाबाद जेल में बंद उसके भाई मुनीष पर भी रासुका लगा दी गई है। एसएसपी कलानिधि नैथानी की रिपोर्ट पर बुधवार को डीएम इंद्रविक्रम सिंह ने मुहर लगा दी। मंगलवार को Civil line station in-charge Pravesh Rana ने जेल में जाकर रासुका को तामील कराया।

28 मई 2021 से शुरू हुआ मौतों का सिलसिला : जिले में 28 मई 2021 से alcohol पीने से मौतों का सिलसिला शुरू हुआ था। लोधा, जवां, पिसावा, खैर, जवां, गभाना, टप्पल, क्वार्सी, गांधीपार्क थाना क्षेत्र में 104 लोगों की जान गई थी। पुलिस ने इस मामले में कुल 33 मुकदमे दर्ज किए थे। 88 आरोपितों को गिरफ्तार करके जेल भेजा था। हाईकोर्ट से कुछ आरोपित जमानत पर बाहर हैं।

वहीं पिछले महीने ऋषि शर्मा के खिलाफ रासुका की कार्रवाई की गई है। ऐसे में उसे एक साल तक जमानत नहीं मिल पाएगी। वहीं उसके भाई मुनीष शर्मा के खिलाफ नौ मुकदमे दर्ज हैं। इस पर 18 लोगों की मौत का आरोप है। आठ मुकदमों में मुनीष को जमानत मिल चुकी है। नौवें मुकदमे में जमानत के लिए वह तैयारी कर रहा था। इससे पहले ही पुलिस प्रशासन ने उस पर भी रासुका लगा दी। सीओ तृतीय श्वेताभ पांडेय ने इसकी पुष्टि की है।

जेल में निरुद्ध रखने के लिए लगाई रासुका : विशेषज्ञों के मुताबिक, रासुका का प्रावधान है कि अगर कोई आरोपित जेल से बाहर निकलने का आखिरी प्रयास कर रहा हो तो उसे जेल में निरुद्ध रखने के लिए यह कार्रवाई की जाती है। चूंकि गुरुवार को ही मुनीष के नौवें मुकदमे में जमानत के लिए सुनवाई होनी थी, इससे पहले ही उस पर रासुका लगा दी गई।

Edited By: Anil Kushwaha