हाथरस, जागरण संवाददाता। शनिवार को तड़के में दो घंटे की झमाझम बारिश हुई। इसके चलते शहर की गलियों में जलभराव व कीचड़ हो गया। इससे लोगों को रास्ता निकलना भी मुश्किल हो गया। बारिश होने से कोहरा तो नहीं दिखा। वहीं सर्दी और बढ़ गई। इस बारिश ने नगर पालिका द्वारा कराई गई नालों की सफाई की पोल की खोल कर दी है।

कई दिनों से छाए हुए थे बादल

कई दिनों से छाए हुए बादल शनिवार की सुबह जमकर बरसे। तड़के ही बादलों की गड़गड़ाहट के साथ करीब दो घंटे झमाझम बारिश हुई। इससे जगह-जगह जलभराव हो गया। सुबह जब लोगों की आंखे खुली तो चारों ओर गलियों में कीचड़ व जलभराव नजर आया। इससे रास्ता निकलना भी लोगों के लिए मुश्किल हो रहा था। खंदारीगढ़ी, विष्णूपुरी, विभवनगर सहित कई निचले इलाकों में जलभराव होने से लोगों को दिक्कतों झेलनी पड़ीं। बारिश से सर्दी और बढ़ गई। इस सुबह के समय अधिकतम तापमान 17 व न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस रहा। सर्दी ने लोगों को मुश्किलें बढ़ा रखी थीं।

हटा कोहरा, सड़कों पर दौड़े वाहन

बारिश होने से सबसे अधिक लाभ वाहन चालकों को हुआ। कई दिनों से सुबह के समय छाने वाला कोहरा शनिवार को दूर-दूर तक नहीं दिखा। सड़कों पर वाहन तेज गति से दौड़ रहे थे। कोहरे ने सुबह के समय वाहनों काे सड़कों पर चलाना मुश्किल कर दिया था। कोहरे से राहत मिलने पर रेल व सड़क यातायात दुरस्त रहा।

नहीं मिली गलन भरी सर्दी से राहत

बारिश होने से भले ही कोहरा छट गया हो पर सर्दी इससे और बढ़ गई है। गलन से लोग परेशान थे। वहीं शीत लहर के चलने से ठिठुरन बढ़ गई थी। बादलों की ओट से हल्की धूप निकल रही थी। सर्दी से इस धूप में भी लोगों को राहत नहीं मिली। बारिश होने से किसान खेतों में कामकाज भी नहीं कर सके।

Edited By: Anil Kushwaha