अलीगढ़, जागरण संवाददाता। पीएम स्वनिधि योजना स्ट्रीट वेंडर्स भा रही है। 10 हजार रुपये का ऋण लेकर ये लोग अपने रोजगार में लगा रहे हैं। समय से पहले भुगतान कर अगले ऋण के लिए पुन: आवेदन भी कर रहे हैं। नगर निगम के सेवाभवन में पुन: ऋण लेने वालों की संख्या बढ़ रही है। इनके लिए अलग से काउंटर बनाया गया है। जहां आनलाइन पंजीकरण के अलावा अन्य जरूरी औपचारिकताएं पूरी कराई जाती हैं। जिससे आवेदकों को इधर-उधर भटकना न पड़े। 

14 हजार से ज्‍यादा स्‍ट्रीट वेंडर्स को मिला ऋण का लाभ

जनपद में 25 हजार स्ट्रीट वेंडर्स को पीएम स्वनिधि योजना से जोड़ने का लक्ष्य तय किया गया है। 14 हजार से अधिक स्ट्रीट वेंडर्स पंजीकृत हो चुके हैं। विभिन्न बैंकों के जरिए इन्हें 10-10 हजार रुपये का ऋण दिलाया गया। प्रदेश सरकार के स्पष्ट निर्देश हैं कि ज्यादा से ज्यादा स्ट्रीट वेंडर्स को योजना में शामिल कर लाभ दिलाया जाए। डीएम, कमिश्नर प्रगति रिपोर्ट की समीक्षा कर रहे हैं। यही वजह है कि नगर निगम और डूडा के अधिकारी योजना को गंभीरता से ले रहे हैं। बैंक भी अब ऋण देने में न नुकुर नहीं कर रहीं। शुरुआत में जरूर अड़चनें आई थीं। बैंकों से स्ट्रीट वेंडर्स को लौटा दिया जाता था। इसके चलते लक्ष्य पूरा नहीं हो पा रहा था। समीक्षा बैठक में वजह पता चली तो बैंकों प्रबंधकों को कड़ी हिदायत दी गई। अब एलडीएम खुद इसे देख रहे हैं।

ऋण चुका चुके स्‍ट्रीट वेंडर्स ने पुन: किया आवेदन 

इधर, स्ट्रीट वेंडर्स ऋण चुकाकर पुन: आवेदन कर रहे हैं। दूसरी बार में 20 हजार रुपये ऋण दिया जाना है। ये ऋण भी बिना गारंटी के मिलेगा। शर्तें पूरी करने पर अनुदान, ब्याज माफ का लाभ भी दिया जाएगा। नगर निगम ने पिछले दिनों शिविर आयोजित कर इसका प्रचार-प्रसार भी कराया था। तब दो हफ्ते में 500 स्ट्रीट वेंडर्स ने आवेदन किए थे। अब आगे की औपचारिकताएं पूरी की जा रही हैं।

Edited By: Anil Kushwaha