अलीगढ़, जागरण संवाददाता। बुधवार को लखनऊ में आयोजित होने वाले पंचायत सम्मेलन में शामिल होने के लिए जिले के सभी ग्राम प्रधान मंगलवार को रवाना होंगे। पंचायत सहायक व ग्राम पंचायत सचिव भी इनके साथ जाएंगे। जिले के सभी ब्लाकों में इन्हें ले जाने के लिए कुल 36 बसें लगाई गई हैं। हर ब्लाक पर तीन बसें निर्धारित हुई हैं। प्रधानों के साथ ही पंचायत सहायक व सचिव भी होंगे। पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव ने डीएम-सीडीओ के साथ वीडियो कांफ्रेसिंग की। दोपहर में इन बसों को लखनऊ के लिए रवाना किया जाएगा।

यह है सम्‍मेलन की तैयारी

जिला पंचायत राज अधिकारी धनंजय जायसवाल ने बताया कि जिले में कुल 867 ग्राम पंचायतें हैं। अब बुधवार को लखनऊ में एक पंचायत सम्मेलन होंगे। सीएम योगी आदित्यनाथ इस सम्मेलन में शामिल होंगे। ऐसे में सूबे भर के सभी जिलों से ग्राम प्रधान व पंचायत सहायकों को भी इसमें आमंत्रित किया गया है। ऐसे में जिले से भी ग्राम प्रधान व पंचायत सहायक शामिल होने के लिए जा रहे हैं। इसके लिए जिले में कुल 36 बसें लगाई गई हैं। हर ब्लाक को तीन बस मिलेंगे। सुबह यह बसें ब्लाक से पंचायत सहायक व ग्राम प्रधान को लेकर जिला स्तर पर आएंगी। इसके बाद डीएम सेल्वा कुमारी जे व सीडीओ अंकित खंडेलवाल संयुक्त रूप से इन्हें लखनऊ के लिए रवाना करेंगे। प्रधान व पंचायत सहायकों को लखनऊ ले जाने के लिए पंचायत सचिवों व एडीओ को लगाया गया है। हर बस में दो सहायक भी लगाए गए हैं।

प्रधानों को मिलेंगी कई सौगातें

लखनऊ में आयोजित इस सम्मेलन में प्रधानों को कई सौगात मिल सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक प्रधानों के मानदेय में डेढ़ से दो गुनी तक बढ़ोत्तरी हो सकती है। वहीं, वित्तीय अधिकार भी बढ़ाए जा सकते हैं। वहीं, इमरजेंसी के लिए फंड मिलने की भी सौगात मिल सकती हैं। प्रधान संगठन इसके लिए पिछले काफी समय से संघर्ष कर रहे थे। ऐसे में विधानसभा चुनाव से पहले यह बड़ा कदम माना जा रहा है।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena