अलीगढ़ [ संतोष शर्मा ] : कोरोना वायरस से जुड़ी भ्रामक खबरों पर कतई ध्यान न दें। सोशल मीडिया पर ऐसी खबरों को प्रचारित करने वालों को देश के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी। उन्हें समझना होगा कि ऐसी खबरों से दूसरे लोगों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। सोशल मीडिया से जुड़े लोग भी ऐसी खबरों पर कतई विश्वास न करें जो सत्यता से परे हों। विश्वसनीय स्रोतों से मिलने वाली खबरों पर ही भरोसा करें। ऐसे में अखबार सबसे बेहतर माध्यम है। अखबार से कोरोना वायरस के संक्रमण का भी खतरा नहीं है। ऐसा एक भी केस सामने नहीं आया है जिसमें अखबार के जरिए संक्रमण फैलने की बात आई हो।

हमें सतर्कता बरतनी होगी

यह मानना है अलीगढ़ मुस्लिम विश्व विद्यालय (एएमयू) के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन डिपार्टमेंट के प्रो. मोहम्मद शोएब जहीर का। उनका कहना है कि कोरोना जब तक देश से खत्म नहीं हो जाता, हमें सतर्कता बरतनी होगी। अखबार पढऩे के बाद साबुन से हाथ साफ कर लें। सैनिटाइजर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अखबार को घर तक पहुंचाने वाले लोगों को भी अपनी सेहत के प्रति सचेत रहना होगा।

यदि परेशानी है तो छिपाए नहीं

किसी भी तरह की कोई परेशानी है तो उसे छुपाएं नहीं। डॉक्टर की सलाह जरूर लें। लॉकडाउन का जिस तरह लोग पालन कर रहे हैं वह काबिले तारीफ है। अभी लड़ाई खत्म नहीं हुई है। हमें हर खतरे के मुकाबले के लिए सचेत रहना होगा।

दैनिक जागरण ने बंटवाए साबुन व मास्क

अलीगढ़ के खैर में कोरोना महामारी से लडऩे के लिए पूरा देश साथ खड़ा है। इस लड़ाई में दैनिक जागरण भी पूरी तरह समर्पित है। अपनी इसी भावना को लेकर दैनिक जागरण की ओर से गुरुवार को जरूरतमंदों को साबुन व मास्क वितरित किए, जिससे गरीब लोग भी खुद को पूरी तरह सुरक्षित रख सकें। दैनिक जागरण की ओर से खैर की पीपल मंडी में साबुन व मास्क वितरित किए गए। इस आयोजन में एसडीएम अंजुम बी व सीओ संजीव दीक्षित भी मौजूद रहे।

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस