अलीगढ़[जेएनएन]: उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के कस्बा विजयगढ़ में मौजूद कस्तूरबा विद्यालय में फर्जीवाड़े से नौकरी करने वाली संध्या द्विवेदी के बारे में अभी तक पुलिस के हाथ कोई सुराग नहीं लगा है। मैनपुरी में संध्या को कोई नहीं पहचान सका, जिसके चलते टीम लौट आई। अब संध्या के दो मोबाइल नंबरों को सर्विलांस पर लगाया गया है। उम्मीद है कि नंबरों से कोई सुराग मिल सके। साथ ही पुलिस को संध्या का फोटो भी मिल गया है। 

फर्जी अनामिका शुक्ला

बिजौली में फर्जी अनामिका शुक्ला की गिरफ्तारी के बाद विजयगढ़ में भी फर्जी संध्या द्विवेदी सामने आई है। संध्या ने अपन दस्तावेजों में भैंसरोली, भोगांव (मैनपुरी) और जोगा, बेवर (मैनपुरी) के पते दर्ज थे। इसके लिए पुलिस की एक टीम मैनपुरी भेजी गई थी, लेकिन संध्या के ोनों पते गलत निकले। पुलिस ने आसपास के गांव व प्रधानों से भी पूछताछ की, मगर कोई नहीं पहचान सका।

फोटो से होगी जांच

इंस्पेक्टर विनोद कुमार ने बताया कि मैनपुरी से टीम आ गई है। संध्या के दो मोबाइल नंबरों को सर्विलांस पर लगाया गया है। दोनों नंबर बंद हैं, जिसके चलते लोकेशन ट्रेस नहीं हो पा रही है। संध्या का फोटो भी मिल गया है, जिसे आसपास के थानों में भेजा गया है। जांच में यह तय है कि संध्या ना फर्जी है। विजयगढ़ में नौकरी करने वाली महिला का नाम कोई और होगा, जिसके बारे में जल्द पता लगा लिया जाएगा। पुलिस तेजी से जांच कर रही है। संध्या बार बार लोकेशन बदल रही है। इस कारण उलझन हो रही है। शीघ्र ही कामयाबी मिलेगी।

बैंक खाते में कोई गारंटर नहीं 

पुलिस ने मैनपुरी में संध्या के बैंक खाते की जांच की तो पता चला कि उसमें कोई गारंटर नहीं था। इंस्पेक्टर के मुताबिक, संध्या ने जन धन खाता खुलवाया था, जिसमें गारंटर की जरूरत नहीं होती। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस