जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : महुआखेड़ा थाना क्षेत्र के गांव मूसेपुर जलाल में पिता की पंचायत के दौरान शनिवार को गोली मारकर पिता की हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपित बेटे सूरज को रविवार को जेल भेज दिया। सूरज ने पुलिस के सामने जुर्म कबूल लिया। कहा कि पिता आधी कीमत में जमीन बेच चुके थे। शेष जमीन न बेच दें, इसके लिए पंचायत के सामने बातचीत हो रही थी। लेकिन, पिता के न मानने पर गोली मार दी।

गांव मूसेपुर निवासी 50 वर्षीय सुनील सिंह तोमर की शनिवार शाम को उसी के बड़े बेटे सूरज ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। सुनील सात-आठ साल से अपने बड़े भाई की पत्नी के साथ रहता था। वहीं अपने हिस्से की आधी जमीन भी बेच चुका था। सूरज इसी बात से खफा था। शेष जमीन को बचाने के मकसद से सूरज व सुनील के बीच पंचायत के सामने सुलह समझौते की बात हो रही थीं। सूरज ने बताया कि वह पिता को अपने साथ रखने पर जोर दे रहा था। अन्य लोग भी यही कह रहे थे। लेकिन, पिता ने इन्कार कर दिया। साथ ही जमीन बेचने पर अड़े थे। इसी बीच कहासुनी हुई और उसने तमंचे से गोली मारकर हत्या कर दी। इस मामले में स्वजन की ओर से कोई तहरीर नहीं दी गई थी। पुलिस की ओर से ही मुकदमा दर्ज किया गया था। इंस्पेक्टर विनोद कुमार ने बताया कि आरोपित को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। इसके पास से तमंचा भी बरामद हुआ है।

33 लाख की जमीन 15

लाख रुपये में बेच दी

सुनील के पिता के देहांत के बाद उसके हिस्से में 12 बीघा जमीन आई थी। इसमें से छह बीघा जमीन सुनील ने आधे से भी कम कीमत यानी 15 लाख में बेच दी। जबकि उसकी सरकारी कीमत ही 33 लाख रुपये थी। इसी बात से सूरज नाराज था।

Edited By: Jagran