अलीगढ़, जागरण संवाददाता।  पिसावा-चंडौस मार्ग पर गांव दरगवां के पास चंडौस के किराना व्यापारी सचिन अग्रवाल से एक लाख 60 हजार रुपये लूटने वाले बदमाशों की तलाश में पुलिस ने 20 से अधिक सीसीटीवी कैमरे खंगाले है। इनमें बाइक सवार बदमाश कैद हुए हैं। पुलिस इनकी पहचान कराने में लगी है। मुखबिरों की मदद से कुछ सुराग भी हाथ लगे हैं, जिनकी मदद से पुलिस जांच में जुटी है।

20 जनवरी की घटना

चंडौस के रहने वाले व्यापारी सचिन अग्रवाल आसपास के क्षेत्रों में परचून के सामान की सप्लाई करते हैं। 20 जनवरी को वह पिसावा के दुकानदारों से रुपये लेकर स्कूटी से चंडौस लौट रहे थे। दोपहर 3:50 बजे दरगवां गांव स्थित सत्संग भवन के पास पिसावा की तरफ से दो अपाचे बाइकों पर आए चार बदमाश आ गए। स्कूटी के सामने बाइक लगाते हुए चाबी व मोबाइल छीन लिया। एक युवक ने कनपटी पर तमंचा लगाकर जेब में रखी नकदी निकाल ली। इसके बाद डिग्गी में रखा रुपयों से भरा बैग निकाला। शोर मचाने पर व्यापारी को जान से मारने की धमकी देते हुए पिसावा की तरफ ही फरार हो गए। चारों बदमाश हेलमेट पहने हुए थे। बदमाश कुछ दूरी पर ही मोबाइल व स्कूटी की चाबी को भी फेंक गए। इस घटना ने पुलिस की मुस्तैदी की भी पोल खोल दी।

पुलिस की मुस्‍तैदी की खुली पोल

आचार संहिता लागू होने के चलते पुलिस इन दिनों अलर्ट है। लेकिन, बदमाशों ने बेखौफ होकर घटना को अंजाम दिया। घटनास्थल से एक किलोमीटर दूर भी पुलिस गश्त पर थी। लेकिन, सहमे हुए व्यापारी ने चाबी व मोबाइल उठाया और घटना की जानकारी पुलिस को नहीं दी। बल्कि सीधे घर पहुंच गए। साढ़े चार बजे पिसावा के व्यापारियों को साथ लेकर थाने आकर तहरीर दी थी। लूट के बाद आक्रोशित व्यापारियों ने पुलिस से बदमाशों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग की थी। थानाध्यक्ष नारायण दत्त तिवारी ने बताया कि पुलिस को देरी से सूचना मिलने के चलते बदमाशों की तलाश में भी देरी हो रही है। सीसीटीवी खंगाले जा रहे हैं। इनके आधार पर बदमाशों की पहचान कराई जा रही है।

Edited By: Anil Kushwaha