अलीगढ़, जागरण संवाददाता। उत्‍तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के थाना क्वार्सी थाना क्षेत्र के रमेश विहार कालोनी में महिला डाक्टर आस्था अग्रवाल की हत्या में आरोपित पति अरुण अग्रवाल की तलाश में सर्विलांस व एसओजी समेत चार टीमें लगी हुई हैं। सूत्रों के मुताबिक, पुलिस को अहम सुराग मिले हैं। माना जा रहा है कि शीघ्र ही हत्या की परतें खुल सकती हैं।

यह है मामला

कोरोना कंट्रोल रूम में तैनात डा. आस्था अग्रवाल का शव बुधवार को उनके रमेश विहार स्थित घर के कमरे में फंदे पर लटका मिला था। कासिमपुर में राधिका आक्सीजन प्लांट चलाने वाले पति अरुण व दोनों बच्चे घर पर नहीं थे। बच्चों को पुलिस ने अरुण के बड़े भाई तरुण के घर से बुधवार रात सकुशल बरामद कर लिया। अरुण ने मंगलवार रात को ही बच्चों को यहां छोड़ दिया था। इसके बाद से वह फरार है। फोन बंद है। आस्था की बहन ने अरुण, उसके भाई तरुण व अनुज के अलावा दोस्त अर्वित के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है।पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी गला दबाकर हत्या की बात सामने आई। पुलिस ने तरुण को हिरासत में लेकर पूछताछ की। इसमें स्पष्ट हुआ कि अरुण ने तरुण ने घटना के बारे में जानकारी दे दी थी। लेकिन, वह कहां भाग गया। इस बारे में नहीं बताया। ऐसे में आरोपित को शरण देने व भागने में मदद करने को लेकर उसे जेल भेजा गया है। इधर, ताऊ की गिरफ्तारी के बाद दोनों बच्चों को सीडब्ल्यूसी (चाइल्ड वेलफेयर कमेटी सेंटर) के सुपुर्द कर दिए गए थे। वहीं शुक्रवार को किशनपुर स्थित श्मशानघाट में आस्था का अंतिम संस्कार कर दिया गया। ऐसे में सीडब्ल्यूसी से दोनों बच्चों को भी यहां लाया गया। बाद में सीडब्ल्यूसी में पेश करने के बाद दोनों को मौसी आरती के सुपुर्द कर दिया। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि अरुण की तलाश में टीमें लगी हैं। कुछ सुराग मिले हैं। जल्द ही आरोपित को पकड़ लिया जाएगा।