अलीगढ़ (जेएनएन)। जिले के गौंडा  क्षेत्र में गांव चिंता की नगलिया के पास पांच माह पूर्व हुए शिक्षक सत्यवीर सिंह हत्याकांड के आरोपित हिस्ट्रीशीटर को पुलिस ने रविवार देर शाम हाथरस-मांट ब्रांच नहर पुल पर गांव किनमासा के पास मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया। आरोपित के पैर में गोली लगी है। पुलिस ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। उसके खिलाफ डेढ़ दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं और 20 हजार का इनाम घोषित था। अब पुलिस इसके गिरोह तक पहुंचने की कोशिश कर रही है।इसके लिए पूछताछ में जुटी हुई है।

एेसी हुई मुठभेड़

पुलिस प्रवक्ता के अनुसार रविवार शाम एसओ गौंडा अजब सिंह गश्त पर थे। खैर रोड पर गांव किनमासा के पास दो संदिग्ध युवक आते दिखेे। पुलिस टीम ने रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी मोर्चा संभाला और आवश्यक बल प्रयोग कर एक युवक दबोच लिया। उसका साथी खेतों के रास्ते भागने में सफल रहा। पुलिस की गोली पकड़े गए युवक के पैर में जा लगी। पूछताछ में उसने अपना नाम अमरपाल पुत्र तुलाराम निवासी चिंता की नगरिया, गौंडा बताया। वह गौंडा थाने का हिस्ट्रीशीटर है।

हत्या का आरोपित

तीन फरवरी को चिंता की नगलिया निवासी शिक्षक सत्यवीर सिंह की गांव मजूपुर पुल के पास हुई हत्या में आरोपित था। इस मामले में पुलिस इसके भाई सहदेव, पिंटू उर्फ चैंटा व पप्पू निवासीगण आसना, मडराक को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। अमरपाल के फरार रहने से पुलिस ने नोटिस चस्पा कर कुर्की की तैयारी कर ली थी। एसएसपी आकाश कुलहरि ने बताया कि अमरपाल पेशेवर बदमाश है। उस पर डेढ़ दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। अकेले गौंडा थाने में ही आधा दर्जन मुकदमे दर्ज हैं। जिले के अन्य थानों में भी कई मुकदमे दर्ज हैं। उस पर 20 हजार रुपये का इनाम था। अभी पूछताछ जारी है उसके फरार साथी की तलाश की जा रही है।

Posted By: Mukesh Chaturvedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप