हाथरस, जेएनएन। गरीब व असहाय परिवार के लोगों को हर माह पांच किलो चावल मुफ्त दिया जाता है। इस चावल की कालबाजारी करने वाले लोगों का गिरोह सक्रिय है। शुक्रवार की देर शाम को जिला पूर्ति विभाग व पुलिस ने चावण गेट के पास से पकड़ लिया। सरकारी चावल के शक में ट्रक को पकड़ने के बाद जब जांच पड़ताल की गई तो चावल सरकारी नहीं निकला।

जांच में नहीं निकला सरकारी चावल

राशन कार्ड पर हर माह चावल लोगों को मिलता है। इस चावल की कालाबाजारी न हो,इसके लिए प्रशासनिक स्तर से सख्त छापेमारी की जाती है। पूर्व में जिले में कई स्थानों से सरकारी चावल को जिला पूर्ति विभाग के द्वारा पकड़ा जा चुका है। शनिवार की शाम को जिला पूर्ति विभाग के इंस्पेक्टर व इलाका पुलिस को सूचना मिली कि जलेसर से एक ट्रक सरकारी चावल को लेकर दिल्ली जा रहा है। सूचना मिलने पर इलाका पुलिस व जिला पूर्ति विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। चावल से लदे ट्रक को पकड़कर पुलिस कोतवाली ले आई। ट्रक को छुड़वाने के लिए लगातार सिफारिश अधिकारियों के पास आती रही। जिला पूर्ति विभाग के द्वारा जब ट्रक में लदे चावल की गहनता से पड़ताल की तो वो सरकारी नहीं निकला। चावल से लदे ट्रक को पुलिस ने छोड़ दिया। इंस्पेक्टर सदर अरविंद राठी का कहना है कि विभाग द्वारा की गई जांच पड़ताल में चावल सरकारी नहीं निकला।