अलीगढ़ : पीएसी कैंप में साथी की कारबाइन से चली गोलियों से हेड कांस्टेबल रामकिशोर तिवारी (53) की मौत हो गई। कारबाइन का सेफ्टी लॉक न लगा होने के कारण यह हादसा हुआ। घटना से कैंप में अफरा-तफरी मच गई। आनन-फानन रामकिशोर को सीएचसी, सिकंदराराऊ ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

रामकिशोर तिवारी पुत्र जमुना प्रसाद तिवारी निवासी गांव रिहारी थाना सौरिख (कन्नौज) 15 बटालियन पीएसी, आगरा में तैनात थे। इसमें से कुछ पीएसी के जवान हाथरस में भी तैनात हैं। डेढ़ सेक्शन पीएसी पुरदिलनगर स्थित मुरली मनोहर मंदिर परिसर में कई महीने से कैंप कर रही है। यहां 13 जवान रह रहे हैं। पीएसी के जवान सिकंदराराऊ पुलिस के साथ शाम को सिकंदराराऊ में गश्त करते हैं। सोमवार शाम ड्यूटी के लिए जवान तैयार हो रहे थे। रामकिशोर चारपाई पर लेटे थे। साथी केवल ¨सह पुत्र सिपाहीराम निवासी गांव विद्दा का पुरवा थाना मंगलपुर (कानपुर) भी तैयार हो रहे थे। केवल ¨सह ने अपनी कारबाइन उठाई। उन्होंने ध्यान नहीं दिया कि राइफल का सेफ्टी लॉक खुला है तथा ऑटो मोड पर है। ट्रिगर पर हाथ लगते ही एक के बाद एक चार गोलियां निकलीं, जिसमें से तीन गोलियां रामकिशोर को जा लगीं। एक सीने में, एक पेट में तथा एक कमर की दाईं ओर घुसी और बाईं ओर से सीने से निकल गई। जवानों के होश उड़ गए। गोलियों की आवाज सुन कस्बे के लोग भी मंदिर पर जमा हो गए। घटना की जानकारी मिलते ही सिकंदराराऊ के सीओ आशीष प्रताप ¨सह, कोतवाल मनोज शर्मा सीएचसी पहुंच गए। एसपी सुशील घुले, एएसपी सिद्धार्थ वर्मा ने भी घटना स्थल का निरीक्षण किया। केवल ¨सह को हिरासत में लिया गया तथा कारबाइन कब्जे में ली गई। उन्होंने कबूला कि उनसे गलती से गोली चली। फोरेंसिक टीम भी छानबीन के लिए बुलाई गई।

एसपी ने पीएसी कमांडेंट को सूचना दी, जो आगरा से हाथरस के लिए रवाना हो गए थे। पुलिस लाइन में रह रहे कंपनी कमांडर देवेंद्र ¨सह सिकरवार भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने रामकिशोर के परिजनों को सूचना दी। मृतक की छह बेटे-बेटियां हैं, जिनमें से दो बेटियों की शादी हो चुकी है। हाथरस के एसपी सुशील घुले ने कहा कि लापरवाही की वजह से यह घटना हुई है। फिलहाल एचसीपी केवल ¨सह को हिरासत में ले लिया गया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। मृतक के परिजनों को सूचना दे दी गई है। फोरेंसिक टीम छानबीन कर रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप