अलीगढ़, जेएनएन : मंगलायतन विश्वविद्यालय के एनएसएस और मंगलायतन हॉस्पिटल के संयुक्त तत्वावधान में विश्व कैंसर दिवस के मौके पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं को कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी के बारे में बताया गया और उसके बचने के उपाय भी बताए गए।

 

हॉस्पिटल के सीएमओ डॉ. हरेंद्र सिंह ने छात्र-छात्राओं एवं स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए कहा कि कैंसर एक खतरनाक बीमारी है और यथासंभव हम सभी को पेस्टिसाइड्स उत्पादों एवं प्लास्टिक क्रॉकरी के प्रयोग से बचना चाहिए, क्योंकि यह सब कैंसर को बढ़ावा देने में सहायक होते हैं। वहीं डॉ शशांक प्रकाश ने कहा कैंसर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु ऑर्गेनिक उत्पादों का सेवन करना चाहिए।  संगोष्ठी में एनएसएस इकाई  तीन की प्रोग्राम ऑफिसर डॉ. पूनम रानी ने कहा कि 2021 वर्ल्ड कैंसर डे की थीम "मैं हूं और मैं रहूंगा" पर प्रकाश डाला तो वहीं संगोष्ठी के समन्वयक डॉ. सिद्धार्थ जैन ने संचालन करते हुए कहा कि जानलेवा बीमारी से बचने के लिए प्रतिदिन ध्यान और योगाभ्यास को मानव को अपनी दिनचर्या का अंग बनाना चाहिए। 

 

180 स्‍वयंसेवकों ने की सहभागिता

इस अवसर पर कुलपति प्रो. के वी  एस एम कृष्णा और कुलसचिव ब्रिगेडियर समर वीर सिंह ने सभी स्वयंसेवकों को कैंसर की जानकारी और बचाव के उपाय लेने के लिए  प्रेरित किया। संगोष्ठी में लगभग 180 स्वयंसेवकों ने अपनी सहभागिता की। एनएसएस प्रोग्राम ऑफिसर लव मित्तल ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में डॉ. धनुषा, शिखा शर्मा, अनुराधा यादव, अरुण कुमार, राघवेंद्र सारस्वत व अन्य मौजूद रहे।

Edited By: Anil Kushwaha