अलीगढ़ : कस्बा स्थित गल्ला मंडी में भारी तादाद में धान की आवक हो रही है, जिससे अतरौली रोड पर घंटों जाम की स्थिति बनी रहती है। छर्रा में गल्ला मंडी के बाहर सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लग जाती हैं, जिससे घंटों जाम में फंसे रहकर राहगीरों तथा वाहन चालकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। बुधवार को पुलिस ने कड़ी मशक्कत करके बमुश्किल यातायात को सुचारू कराया गया।

कस्बा छर्रा गल्ला मंडी में धान की काफी आवक हो रही है। आस पास एवं अन्य जनपदों से भी किसान अपना धान बेचने के लिए छर्रा मंडी पहुंच रहे हैं। तुलाई जल्दी कराने के चलते धान से भरे बुग्गी, ट्रैक्टर आदि वाहन मंडी गेट पर ही अव्यवस्थित हो जाते हैं, जिससे अतरौली रोड पर लंबा जाम लग जाता है। राहगीरों को घंटों इंतजार करना पडता है। वहीं छर्रा गल्ला मंडी में धान की खरीद हेतु आरएफसी एवं एफसीआइ कंपनी के क्रय केंद्र हैं। यहां किसानों के मोटे व कामन धान की कीमत 1940 व ग्रेड वन धान की कीमत 1960 रुपये निर्धारित की है। फिलहाल मंडी में सुगंधा, सरबती, 1509 बासमती धान बिक्री हेतु पहुंच रहा है। बाजार में आढ़तों पर बासमती धान की कीमत 2600 से लेकर 2900 रुपये में है। गल्ला मंडी व्यापार अध्यक्ष मुकेश गुप्ता का कहना है कि इस समय मंडी में भारी संख्या में धान पहुंच रहा है। रोड पर जाम की स्थिति बनी रहती है। बुधवार को धान की कीमत में कुछ गिरावट आई है। वहीं आरएफसी एवं एफसीआई केंद्र संचालक रितेश चौहान एवं अतुल सक्सेना का कहना है कि क्षेत्र के किसान मोटा धान कम करते हैं, जिससे खरीद केंद्र पर सन्नाटा पसरा हुआ है। मंडी में अभी तक मोटा धान बिक्री हेतु नहीं आया है। दोनों केंद्रों पर अभी तक धान की कोई खरीद नहीं हो सकी है।

Edited By: Jagran