अलीगढ़ : इगलास तहसील क्षेत्र में कस्बा से होकर गुजर रहा बरसाती नाला ओवर फ्लो होने से कई गांवों के किसानों की सैकड़ों बीघा फसल पानी में डूब गई। किसानों का आरोप है कि सिचाई विभाग ने नाले की सफाई नहीं कराई है। क्षेत्र के गांव विशनुपर, कांन चिरोली, करथला गिदौली से होते हुए बरसाती नाला कस्बे से होकर करबन नदी में गिरता है। नाले की लंबाई करीब 15 किमी है। अधिक बारिश होने पर खेतों में भरने वाला पानी नाले के रास्ते नदी में पहुंचता है। पिछले तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश से चलते खेतों में लबालब पानी भर गया है। जयप्रकाश शर्मा, देवेंद्र शर्मा, मनोहर लाल शर्मा, नेत्रपाल, चंद्रप्रकाश, मनोज कुमार, छोटेलाल, हरिनारायण उपाध्याय, ब्रह्मराज, रामकुमार शर्मा, कालीचरण गुप्ता, उमाकांत उपाध्याय आदि का कहना है कि सिचाई विभाग ने नाले की सफाई नहीं कराई है। नाला ओवरफ्लो होने से बारिश का पानी आगे नहीं बढ़ सका और खेतों में भरकर रह गया। इससे उनकी धान की फसल डूब गई है। जलभराव से फसल में काफी नुकसान होगा। किसानों का आरोप है कि सिचाई विभाग द्वारा सिर्फ कागजों में नाले की सफाई कर दी जाती है।

विदित रहे कि बारिश से जहां एक ओर लोगों ने गर्मी से राहत की सांस ली है तो वहीं जगह-जगह जलभराव व कीचड़ होने से परेशानी का सामना भी करना पड़ रहा है। क्षेत्र में ज्यादातर धान उत्पादक किसान बारिश होने से खुश हैं।

नाले की पटरी कटी,

गांवों में घुसा पानी

संसू, मडराक : मंगलवार को भारी बारिश होने से मथुरा बाईपास स्थित गंदे नाले की पटरी कटने से तीन गांवों में पानी घुस गया। सूचना पर पहुंचे कोल विधायक अनिल पाराशर ने अधिकारियों को सूचना देकर नाला जेसीबी मशीन द्वारा साफ कराया। कटी हुई नाले की पटरी को सही कराया। तब लोगों ने चैन की सांस ली। नाले की पटरी कटने से गांव खेड़िया ख्वाजा, भकरौला व बढ़ौली फतेहखां में पानी लोगों के घरों में घुस गया। घरों में पानी भरने से लोगों ने पूरी रात जाग कर गुजारी। नाले की पटरी कटने का कारण है कई साल से सफाई न होना रहा, जिससे भकरौला व मनोहरपुर कायस्थ के पुलों के नीचे कूड़ा जमा हो गया है। घरों में पानी भरने की सूचना पर पहुंचे विधायक ने तत्काल अधिकारियों को अवगत कराया और जेसीबी बुलाकर नाले की पटरी सही कराई।

Edited By: Jagran