जासं, अलीगढ़ : सरकारी क्रय केंद्रों पर गेहूं खरीद के नए फरमान से किसानों में आक्रोश है। अब एक किसान से 20 कुंतल से अधिक गेहूं नहीं खरीदा जाएगा। शासन के निर्देश पर गुरुवार से यह व्यवस्था लागू हो गई, जबकि क्रय केंद्रों पर तमाम किसान 20 कुंतल से कहीं अधिक गेहूं लेकर पहुंच चुके थे। नाराज किसानों ने हंगामा कर दिया। डेटा खुर्द तिराहे पर धरने पर बैठ गए।

गभाना तहसील अध्यक्ष गुलजार सिंह बापू के नेतृत्व में काफी किसान डेटा खुर्द तिराहे पर धरने पर बैठ गए। किसानों की मांग है कि 20 कुंतल से अधिक गेहूं की खरीद होनी चाहिए। पिछले दिनों से क्रय केंद्रों पर किसानों की गेहूं की तुलाई काफी अनियमित हो गई है। पलसेड़ा, महगौरा, मीरपुर, पिसावा पर संचालित गेहूं क्रय केंद्रों पर काफी लंबी लाइन लगी हुई है। किसानों के पास एक माह पुराने टोकन होने के बावजूद गेहूं की तोलाई न हो पाने से काफी रोष व्याप्त है। किसानों के धरने पर बैठे होने की सूचना पर पहुंची तहसीलदार गभाना रेशमा सहाय को ज्ञापन दिया गया। तहसीलदार ने किसानों की समस्या सुनकर उच्चाधिकारियों से वार्ता की। समस्या के समाधान का आश्वासन मिलने पर किसान शांत हुए और धरना समाप्त कर दिया गया। किसानों ने तहसीलदार से कहा कि 20 कुंतल गेहूं खरीदने से अच्छा है कि गेहूं की तोलाई बंद कर दी जाए। किसानों ने कहा कि क्रय केंद्रों पर तोलाई न होने से भी परेशानी हो रही है।

पूर्व की भांति होगी खरीद

जिला खाद्य विपणन अधिकारी किशनपाल सिंह ने कहा कि प्रति किसान 20 कुंतल गेहूं खरीद के आदेश गुरुवार को ही मिले थे। आदेशों का अनुपालन कर गेहूं खरीदा गया। शाम को मैसेज मिला कि खरीदारी पूर्व की भांति होगी। नए दिशा-निर्देशों की पुष्टि करने के बाद ही शुक्रवार से खरीद कराएंगे।

Edited By: Jagran