अलीगढ़, जागरण संवाददाता। नुमाइश के तहत रविवार को कोहिनूर मंच पर बालीवुड गायक अभिजीत भट्टाचार्य की नाइट में मंझे हुए सुर व सधी हुई राग की ऐसी बयार बही कि श्रोताओं के पैर थिरके बिना नहीं रह पाए। श्रोताओं ने भी बड़ी शालीनता के साथ सुरों के जादूगर का इस्तकबाल (अभिनंदन) किया। अभिजीत ने सिर्फ श्रोताओं को ही नहीं बल्कि वहां मौजूद अतिथियों व अधिकारियों को भी अपने मजाकिया अंदाज व सुरों के जादू से बांधे रखा। नुमाइश 2021 की आखिरी नाइट मे ‘आंख लड़ाकर तूने मारा...’ गाकर अपने तीखे सुरों से श्रोताओं के दिलों को घायल कर दिया।

पहले मजाकिया अंदाज में छकाया फिर थिरकने पर किया मजबूर

श्रोताओं की गानों की डिमांड पर गायक अभिजीत ने पहले ताे उनको मजाकिया अंदाज में छकाया, बाद में गाना सुनाकर थिरकने पर मजबूर कर दिया। मुसाफिर हूं मैं यारों, न घर है न ठिकाना... गाने से दर्शकों का मूड भांपकर उन्होंने बालीवुड के अपने हिट गानों की पेशकश दी। इसके बाद हां यहां कदम-कदम पर लाखों हसीनाएं हैं... गाकर सभी का दिल जीता। चलने लगी हैं हवाएं, सागर भी लहराए..., तुमने न जाना, कि दिल दीवाना, सुनो न सुनो न सुन लो न और मैं कोई ऐसा गीत गाऊं कि आरजू जगाऊं अगर तुम कहो... गाकर समां बांध दिया। श्रोताओं ने भी गाने के साथ उनका बखूबी साथ निभाया।

बस इतना सा ख्वाब है... पर जलाईं फ्लैश लाइट

अभिजीत ने जब चांद तारे तोड़ लाऊं, सारी दुनिया पर मैं छाऊं, बस इतना सा ख्वाब है... गाने की पेशकश दी तो श्रोताओं व वहां बैठे अधिकारियों ने अपने मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर उनका अभिनंदन किया। पूरे गाने लोगों के मोबाइल की लाइट जलती रही।

वो गीत जिन्होंने कालेज से बाहर निकलवाया

अभिजीत ने कानपुर में पढ़ाई करने के दौरान अपने उन गीतों को भी सुनाया जिनको गाने पर टीचर उनको कालेज से बाहर निकाल दिया करते थे। ओ मांझी रे, ओ मांझी रे, अपना किनारा नदिया की धारा है... समेत कई ऐसे गानों को श्रोताओं के सामने पेश किया।

दुनिया में दिखाऊंगा नुमाइश

गायक भट्टाचार्य ने कहा कि उनके प्रोग्राम फेसबुक लाइव पर दुनिया देखती है। आज वे अलीगढ़ की नुमाइश दुनिया को दिखाएंगे। दर्शकों का उनसे लगाव व प्रेम दुनिया देखेगी। ये कहकर उन्होंने श्रोताओं का दिल जीत लिया।

ओले-ओले की मजाकिया पेशकश

अभिजीत ने मजाकिया अंदाज में ओले-ओले गाने की पेशकश दी। सुनाया कि, मेरा मन अलीगढ़, वृंदावन, मथुरा में प्रफुल्लित होकर बोले, ओले-ओले ओले, ओले-ओले ओले। जब भी कोई लड़की देखूं मेरा दिल दीवाना बाेले ओले-ओले... गाकर श्रोताओं का खूब मनोरंजन किया। 

Edited By: Anil Kushwaha