हाथरस, जागरण संवाददाता: आरएसएस कार्यकर्ता राजकुमार उर्फ राजू की पुलिस अभिरक्षा में मौत के मामले में जिलाधिकारी (डीएम) रमेश रंजन द्वारा मजिस्ट्रेटी जांच कराने के आदेश दिए हैं। इसके बाद अपर जिलाधिकारी (एडीएम) न्यायिक मोइनुल इस्लाम ने डाक्टर समेत 12 लोगों को नोटिस भिजवाए हैं। उनसे कहा गया है कि वह आकर इस मामले में अपना बयान दें। इसके अलावा सीओ सादाबाद को पत्र लिखकर कहा है कि वह पूरी प्रकि्रया में शामिल पुलिसजनाें को बयान के लिए एडीएम कार्यालय भेजें ताकि उनके बयान भी लिए जा सके। एडीएम न्यायिक ने बताया कि मजिस्ट्रेटी जांच के संबंधी आदेश मिल चुका है। उन्होंने बताया कि इस मामले में संबंधित पुलिसकर्मियों, राजकुमार का उपचार करने वाले व उसके शव का पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सकों, उसके परिजनों आदि के बयान लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मामले में कोई भी अगर अपना बयान दर्ज कराना चाहे और साक्ष्य देना चाहता है तो वह अपने बयान व साक्ष्य भी जांच अधिकारी के समक्ष रख सकता है। उन्होंने बताया कि जिन लोगों को नोटिस भेजे गए हैं उनमें राजू के शव का पोस्टमार्टम करने वाले वरुण कुमार सिंह, वीरेंद्र सिंह, नवनीत अरोरा, उपचार करने वाली टीम में शामिल डा.महावीर सिंह, सवा फारुख स्टाफ नर्स, विक्रम सिंह, मोहित सिंह, महेंद्र सिंह हैं। इनके अलावा मृतक पक्ष से रमन कुमार, ओमप्रकाश, मुकेश कुमार, इंद्रपाल सिंह हैं। एडीएम के अनुसार सीओ सादाबाद धर्म सिंह को पत्र भेजकर पुलिसजनों को बयानों के लिए एडीएम कार्यालय अाने को कहा गया है।

Edited By: Aqib Khan