जासं, अलीगढ़ : कोरोना से मां व पिता को खोने वाले मासूमों को सरकार ने आर्थिक सहायता दी है। मंगलवार को सभी मासूमों के संरक्षकों के खाते में तीन-तीन महीने के लिए 12-12 हजार की धनराशि भेज दी गई। जिले भर के कुल 76 मासूमों के लिए 14 लाख से अधिक की धनराशि भेजी गई है। जुलाई, अगस्त व सितंबर की यह धनराशि है।

जिला प्रोबेशन अधिकारी स्मिता सिंह ने बताया कि जिले में अब तक कोरोना से प्रभावित 76 बच्चे तलाशे गए हैं। इनमें 39 बालिकाएं एवं 37 बालक हैं। 71 बच्चों के माता या पिता की जान गई है। पांच बच्चों के माता-पिता दोनों नहीं रहे। सरकार ने इन मासूम की मदद के लिए मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना शुरू की है। इसके तहत 18 साल तक के बच्चों को चार हजार रुपये प्रति माह के हिसाब से दिए जा रहे हैं। बच्चों को अटल आवासीय विद्यालय व कस्तूरबा गांधी विद्यालय में पढ़ाया जाएगा। इसके साथ ही बालिकाओं के शादी योग्य होने पर विवाह के लिए एक लाख एक हजार रूपये दिए जाएंगे। कक्षा नौ या इससे ऊपर की कक्षा में शिक्षा प्राप्त कर रहे बच्चों को लैपटाप या टेबलेट दिए जाएंगे।

अन्य अनाथों का भी होगा चयन : अब तक सरकार कोरोना से प्रभावित बच्चों को ही इस योजना का लाभ दे रही थी, लेकिन अब शासन स्तर से नियमों में बदल कर दिया है। अब अगर कोई भी बच्चा अन्य किसी कारण से भी अनाथ हुआ है, तो भी उसे लाभ मिलेगा। प्रति महीने इसे ढाई हजार रुपये की धनराशि दी जाएगी। बाल संरक्षण ईकाई के सदस्य गौरव चंदेल ने बताया कि कोई भी व्यक्ति इस योजना के लाभ के लिए जिला पंचायत कार्यालय स्थित जिला बाल संरक्षण ईकाई कार्यालय में आकर संपर्क कर सकता है।

Edited By: Jagran